प्रॉपटाइगर, हाउसिंग डॉट कॉम के विलय की घोषणा, 5.50 करोड़ डालर जुटायेंगे

दिल्ली. ऑनलाइन रीयल्टी सेवा क्षेत्र में एकीकरण और सुदृढीकरण की शुरुआत करते हुये प्रॉपटाइगर डॉट कॉम और हाउसिंग डॉट कॉम ने आज विलय की घोषणा की है. इस विलय के बाद यह देश में ऑनलाइन रीयल एस्टेट सेवा देने वाली सबसे बड़ी कंपनी बन जायेगी. नई संयुक्त कंपनी बाजार से 5.50 करोड़ डालर का निवेश भी जुटायेगी. न्यूजकार्प के समर्थन वाली प्रॉप टाइगर डॉट कॉम और साफ्टबैंक के समर्थन वाले हाउसिंग डॉट कॉम ने घोषणा की है कि वह दोनों साथ मिलकर काम करेंगे. वह भारत की सबसे बड़ी ऑनलाइन रीयल एस्टेट सेवा क्षेत्र की कंपनी बन जायेंगे. कंपनी की यहां जारी विज्ञप्ति के अनुसार इस सौदे के बाद बनने वाले संयुक्त उद्यम में आरईए ग्रुप लिमिटेड 5 करोड़ डालर निवेश करेगा. इसकी सहयोगी साफॅटबैंक ग्रुप कार्प भी 50 लाख डालर का निवेश करेगी. प्रापटाइगर में न्यूजकार्प सबसे बड़ी शेयरधारक बनी हुई है. उसकी आरईए ग्रुप में भी 61.6 प्रतिशत हिस्सेदारी है.   विलय के बाद बनने वाले संयुक्त उद्यम में आरईए और सॉफ्टबैंक के प्रतिनिधि बोर्ड में शामिल होंगे जबकि चेयरमैन का पद न्यूजकार्प के पास ही रहेगा. प्रापटाइगर के सह-संस्थापक और सीईओ धु्रव अग्रवाल नई कंपनी के सीईओ होंगे. हाउसिंग डॉट कॉम के सीईओ जसोन कोठारी ने भारतीय इंटरनेट क्षेत्र में नये अवसरों की तलाश का फैसला किया है. हालांकि वह फरवरी तक नये संयुक्त उद्यम में सलाहकार बने रहेंगे. विज्ञप्ति में कहा गया है कि संयुक्त उद्यम में प्रॉप टाइगर, हाउसिंग डॉट कॉम और मकान डॉट कॉम सभी की समर्थन और मजबूती होगी. इससे ग्राहकों को रीयल एस्टेट क्षेत्र में बेहतर अनुभव प्राप्त होगा.