अडाणी ने 5 साल में गुजरात में 49,000 करोड़ के निवेश की घोषणा की
गांधीनगर. अडाणी समूह के चेयरमैन गौतम अडाणी ने बंदरगाह क्षमता के विस्तार समेत विभिन्त क्षेत्रों में लिये अगले 5 साल में 49,000 करोड़ रुपये के निवेश तथा जल एवं सीमेंट कारोबार में दस्तक देने की आज घोषणा की. उन्होंने आठवें वाइब्रेंट गुजरात वैश्विक शिखर सम्मेलन में कहा कि अडाणी समूह 5,500 करोड़ रुपये के निवेश से एक करोड़ टन क्षमता का सीमेंट क्लिंकर संयंत्र लगाएगी. साथ 2,000 करोड़ रुपये के निवेश से खारापन दूर करने के लिये संयंत्र लगाएगी. अडाणी इंटरप्राइजेज पहले ही एक नई कंपनी अडाणी सीमेंटेशन का गठन कर चुकी है. यह कंपनी सीमेंट कारोबार करेगी. उन्होंने कहा कि पिछले 5 साल में हमने गुजरात में 48,000 करोड़ रुपये का निवेश किया है. देश का सबसे बड़ा निजी बंदरगाह और लाजिस्टिक कंपनी अडाणी पोर्ट्स गुजरात में अपने सभी बंदरगाहों मूंदड़ा, दाहेज, हजीरा और अजीरा तथा तुना में क्षमता विस्तार के लिये अगले पांच साल में 16,700 करोड़ रुपये निवेश करेगी. अडाणी ने कहा कि समूह राज्य में अक्षय ऊर्जा के क्षेत्र में भी निवेश बढ़ा रहा है. 2021 में हमारा सौर के साथ पवन ऊर्जा में नया निवेश 23,000 करोड़ रुपये को पार कर जाएगा. बुनियादी ढांचा कारोबार के अलावा अडाणी समूह अपने कृषि कारोबार के विस्तार के लिये भी उल्लेखनीय निवेश कर रहा है.   उन्होंने कहा कि अडाणी विलमर भारत का सबसे बड़ा खाद्य तेल कारोबार है और अविवादित रुप से बाजार में अगुवा है. कंपनी फार्चून ब्रांड से उत्पाद बेचती है. समूह मुंदड़ा तथा अजीरा में खाद्य तेल विनिर्माण क्षमता को बढ़ाने के लिये 1,200 करोड़ रुपये निवेश करेगा. अडाणी ने कहा कि संक्षेप में अगले 5 साल में हम गुजरात में 49,000 करोड़ रुपये निवेश करेंगे और इससे प्रत्यक्ष एवं परोक्ष रुप से 25,000 रोजगार सृजित करेंगे.