नई दिल्ली/बेंगलुरु. रिजर्व बैंक ने पेटीएम पेमेंट बैंक को लॉन्च करने की मंजूरी दे दी है। इसका कामकाज अगले महीने शुरू हो सकता है। पेटीएम के फाउंडर विजय शेखर शर्मा ने बताया कि अब हमें अपने बैंक के लिए एक नेशनल इलेक्ट्रॉनिक फंड्स ट्रांसफर एकाउंट खोलना होगा। उन्होंने कहा कि इसमें दो से चार हफ्तों का समय लगेगा और उसके बाद बैंक शुरू हो सकता है। पेमेंट बैंक को शुरू करने के लिए शर्मा अपने पास से 220 करोड़ रुपये का शुरुआती निवेश कर रहे हैं। वहीं, इसके लिए 400 करोड़ रुपये के इनीशियल कॉरपस की जरूरत है।
 
पेमेंट बैंक में शर्मा की हिस्सेदारी 51 पर्सेंट होगी, जबकि बाकी के शेयर मोबाइल वॉलेट फर्म पेटीएम की पेरेंट कंपनी वन97 कम्युनिकेशंस के पास होंगे। वन97 में चीन की दिग्गज ई-कॉमर्स कंपनी अलीबाबा ने निवेश किया हुआ है। शर्मा ने बताया कि वह पेमेंट बैंक के लिए फुल टाइम एग्जिक्यूटिव रोल में होंगे। इसकी पहली ब्रांच नोएडा में खोली जाएगी, जहां वन97 का हेडक्वॉर्टर है। इस बारे में इकनॉमिक टाइम्स के पूछे गए सवालों का आरबीआई के प्रवक्ता ने जवाब नहीं दिया।
 
पिछले महीने वन97 ने अपने मोबाइल वॉलेट बिजनेस पेटीएम को पेमेंट बैंक से अलग कर दिया था। कंपनी ने बताया था कि वॉलेट एकाउंट्स को बैंक में ट्रांसफर किया जाएगा। कंपनी ने कहा था कि अगर कोई यूजर वॉलेट एकाउंट को पेमेंट बैंक में ट्रांसफर नहीं करना चाहता तो उसे 21 दिसंबर 2016 तक इस बारे में बताना था। वन97 में वेंचर कैपिटल फर्म एसएआईएफ पार्टनर्स का भी पैसा लगा हुआ है। कंपनी ने बताया था कि बैंक शुरू होने के बाद यूजर्स पेटीएम वॉलेट से पेटीएम बैंक के अपने अकाउंट में रकम ट्रांसफर कर पाएंगे और इसके लिए उन्हें कोई चार्ज नहीं देना होगा।
 
पेटीएम पेमेंट्स बैंक के बोर्ड में शर्मा, बैंक के सीईओ शिंजिंनी कुमार और वेंचर कैपिटल फर्म सामा के ए आर लिहानी शामिल हैं। सामा भी वन97 की इनवेस्टर है। पेमेंट्स बैंक हर कस्टमर से 1 लाख रुपये तक का डिपॉजिट ले सकते हैं, लेकिन इन बैंकों को लोन देने या क्रेडिट कार्ड इश्यू करने की इजाजत नहीं है। हालांकि, वे कस्टमर्स को एटीएम कार्ड, डेबिट कार्ड दे सकते हैं और उन्हें ऑनलाइन और मोबाइल बैंकिंग सर्विसेज ऑफर कर सकते हैं। पेटीएम उन 11 एप्लिकेंट्स में शामिल थी, जिन्हें रिजर्व बैंक से सिद्धांत तौर पर अगस्त 2015 में पेमेंट्स बैंक खोलने की मंजूरी मिली थी।
 
इसके बाद सन फार्मा के प्रमोटर दिलीप सांघवी, टेक महिंद्रा और चोलामंडलम डिस्ट्रीब्यूशन सर्विसेज लिमिटेड बैंक खोलने से पीछे हट गए थे। वहीं, एयरटेल एम कॉमर्स सर्विसेज लिमिटेड ने पिछले साल नवंबर में एयरटेल पेमेंट्स बैंक शुरू किया है। पेटीएम के फाउंडर शर्मा ने कहा, ‘पेटीएम के पास वॉलेट यूजर्स की अच्छी संख्या है। इससे बैंक को बना-बनाया कस्टमर बेस मिलेगा।’ उन्होंने कहा कि हम यूजर्स को इंटरेस्ट रेट, फुली पोर्टेबल एकाउंट्स और यहां तक कि कैश आउट फीचर्स भी अब ऑफर कर पाएंगे।