अहमदाबाद. देश के दिग्गज उद्योगपतियों की गुजरात में भारी-भरकम निवेश की तैयारी है। रिलायंस इंडस्ट्रीज के मुखिया मुकेश अंबानी ने आगामी मार्च तक प्रदेश में सवा लाख करोड़ रुपये के निवेश को पूरा कर देने की बात कही है। मुकेश 2003 से अब तक सभी आठ वाइब्रेंट महोत्सव में शामिल हुए हैं। उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के डिजिटल व कैशलेस इंडिया अभियान की प्रशंसा की है। इसके समर्थन में जियो 4जी सेवा का उल्लेख करते हुए कहा कि स्कूल, कॉलेज व अस्पतालों को वह इससे जोडे़ंगे ताकि छात्रों व लोगों को सेवा का लाभ मिल सके। समिट में शिरकत करने पहुंचे अडानी ग्रुप के चेयरमैन गौतम अडानी बोले कि भारत अंतरराष्ट्रीय निवेश के सबसे बडे़ स्थल के रूप में उभरा है। गुजरात के पोर्ट आयात निर्यात के सबसे बडे़ द्वार हैं। उन्होंने राज्य में 49 हजार करोड़ रुपये के निवेश की घोषणा की। वाइब्रेंट समिट में बोले PM, आर्थिक सुधारों से पीछे नहीं हटेंगे; तंत्र होगा भ्रष्टाचार मुक्त टाटा समूह के अंतरिम चेयरमैन रतन टाटा ने एक बार फिर कहा कि जो गुजरात में निवेश नहीं कर रहा वह 'ईडियट' है।
वर्ष 2013 के निवेशक सम्मेलन में टाटा ने कहा था कि इस राज्य में निवेश नहीं करने वाला कोई मुर्ख ही होगा। सम्मेलन में पहुंचे मारुति सुजुकी के प्रमुख तोशिहीरु सुजुकी बोले कि उनके पिता धीरूभाई अंबानी का अनुसरण करते थे। वह कहा करते थे कि धीरूभाई के दो बेटे हैं। तुम उन्हें फॉलो किया करो। इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने महोत्सव में गांव, गरीब व किसान को याद किया। उन्होंने कहा कि वह देश में संतुलित विकास चाहते हैं, जिसका शहर व गांव दोनों को लाभ मिले। मोदी ने 2020 तक सभी को अपना घर देने की बात भी कही। प्रधानमंत्री वाइब्रेंट गुजरात ग्लोबल समिट (वीजीजीएस) के उद्घाटन समारोह में बोले कि आज से पहले ऊर्जा के लिए मेगावॉट की बात होती थी लेकिन भारत ने 175 गीगा वॉट वैकल्पिक ऊर्जा के उत्पादन के लक्ष्य को हासिल कर लिया है।