नई दिल्ली. राजधानी दिल्ली में बेखौफ बदमाश वारदात को अंजाम देने के लिए नए तरीके इजाद कर रहे हैं। नॉर्थ दिल्ली के सदर बाजार में बीच सड़क पर एक बैंककर्मी को जहर का इंजेक्शन देकर मर्डर कर दिया गया। पुलिस की शुरुआती जांच में जो तथ्य सामने आए हैं वे सनसनीखेज हैं। सुपारी किलर ने एक असफल प्रेमी से डेढ़ लाख रुपये लेकर प्रेमिका के पति की गर्दन में जहर का इंजेक्शन घोंपा। अस्पताल में रातभर तड़पने के बाद उसकी मौत हो गई। दिल्ली में इस तरह हत्या का मामला पहले कभी देखने को नहीं मिला था।

सुपारी एक जिम ट्रेनर ने दी थी और किलर फिजियोथेरपिस्ट है। दो तरह का जहर मिलाकर इंजेक्शन घोंपा गया था। अक्टूबर में भी रवि पर इंजेक्शन से वार किया गया था, लेकिन उस समय वह बच गया था। पुलिस ने आरोपी फिजियोथेरपिस्ट और जिम ट्रेनर को गिरफ्तार कर लिया है। पूरी वारदात प्रेम में असफल होने से जुड़ी बताई गई है।
पुलिस के अनुसार, मृतक रवि सदर बाजार स्थित कोटक महिंद्रा बैंक में कैशियर थे। शनिवार शाम लगभग 7 बजे वह बैंक से घर जाने के लिए निकले। उनके साथ उनका सहकर्मी था। बैंक से कुछ कदम आगे बढ़ते ही किसी ने पीछे से रवि की गर्दन में कोई चीज चुभाई। इसके तुरंत बाद रवि बेहोश होकर गिर गए। हमला करने वाला वहां से भागा। रवि के सहकर्मी ने शोर मचाया। कुछ ही देर में लोगों ने उसे पकड़ लिया।
इस बीच रवि को सेंट स्टीफंस अस्पताल ले जाया गया, जहां भर्ती तो कर लिया गया, लेकिन उनकी हालत पर कंट्रोल नहीं किया जा सका। पुलिस को जानकारी मिली तो वह पकड़े गए युवक को अपने साथ थाने ले गई। उसकी पहचान प्रेम सिंह के रूप में हुई। शुरुआत में प्रेम सिंह ने कुछ भी बताने से इनकार कर दिया और पुलिस को बरगलाता रहा। उधर, अस्पताल में रवि की हालत बिगड़ती जा रही थी। रविवार शाम होते होते रवि ने दम तोड़ दिया।
 
इसलिए रची हत्या की साजिश
पुलिस ने प्रेम सिंह से सख्ती से पूछताछ की तो उसने बताया कि उसने रवि को जहरीला इंजेक्शन लगाया था। आरोप के मुताबिक, यह सब उसने पालम इलाके में रहने वाले अनीश यादव के कहने पर किया। पुलिस की टीम अनीश यादव को पूछताछ के लिए ले आई। अनीश पेशे से जिम ट्रेनर है। प्रेम ने बताया था कि उसे इस काम के लिए डेढ़ लाख रुपये दिए गए हैं।
इसके बाद अनीश ने आगे का खुलासा किया। उसने बताया कि वह रवि की पत्नी से प्यार करता था। जुलाई 2016 में रवि ने उससे शादी कर ली थी। वह चाहता था कि अब रवि की पत्नी उसे तलाक दे दे, लेकिन वह नहीं मानी। इसलिए उसने यह घिनौना फैसला कर लिया। उसे लगता था कि रवि की मौत के बाद तो वह उसकी पत्नी उसके पास ही आएगी।
नॉर्थ डिस्ट्रिक्ट के डीसीपी जतिन नरवाल ने बताया कि प्रेम सिंह ने फिजियोथेरेपी में डिप्लोमा कर रखा है और वह घर-घर जाकर फिजियोथेरेपी सर्विस देता है। रवि को किस जहर का इंजेक्शन लगवाया गया, इसके लिए मेडिकल ओपिनियन मांगा गया है। अभी तक की जांच में रवि की पत्नी की कोई संदिग्ध भूमिका नहीं सामने आई है।
 
छोड़ चुकी है पत्नी
प्रेमिका को वापस पाने की चाह में हत्याकांड की साजिश रचने वाला अनीश बुरी तरह बौखलाया हुआ था। वह इस बात से तो गुस्से में था ही कि प्रेमिका की किसी और से हो गई, उससे भी ज्यादा परेशानी उसे यह थी कि उसकी पत्नी उसे छोड़ कर चली गई थी। उसके खिलाफ दहेज उत्पीड़न का मुकदमा भी दर्ज करवा गई थी।
अनीश ने पुलिस को बताया कि उसकी शादी फरवरी 2016 में संगम विहार में रहने वाली युवती से हुई थी। मगर शादी के बाद भी वह अपनी प्रेमिका को नहीं भूल पाया और उसके संपर्क में था। वह उसे मनाता रहता था कि वह उससे शादी जरूर करेगा, लेकिन वह अब उससे दूर होने लगी थी। उसकी शादी रवि से तय हो गई थी। जुलाई में रवि से उसकी शादी हो गई।
अनीश की पत्नी को यह पता चल गया कि अनीश का किसी और नाता है और वह उसके संपर्क में है। वह अपने मायके चली गई और उसके खिलाफ दहेज उत्पीड़न का मुकदमा दर्ज करा दिया। अनीश ने यह बात अपनी प्रेमिका को बताई और उस पर दबाव बनाया कि वह अपने पति को छोड़ दे, लेकिन उसने अनीश की बात नहीं मानी। इसके बाद अनीश ने रवि की हत्या की साजिश रची और इसके लिए उसने प्रेम की मदद ली।

अक्टूबर से कर रहा था रेकी
रवि को जहरीला इंजेक्शन देकर मौत के घाट उतारने का आरोपी प्रेम सिंह मूल रूप से जालौन, मध्य प्रदेश का रहने वाला है। वह लगभग 4 साल से दिल्ली में रह रहा है। प्रेम ने पालम में ही अपना फिजियोथेरपी सेंटर खोला था, लेकिन वह चला नहीं। इसके बाद वह घर-घर जाकर सर्विस देने लगा। उसकी दोस्ती जिम ट्रेनर अनीश से हुई। दोनों में पर्सनल बातें शेयर होने लगी।
अनीश ने वैवाहिक जिंदगी और प्रेम कहानी दोनों उसे बताई। साथ ही बताया कि प्रेमिका की वजह से उसकी पत्नी उसे छोड़ कर चली गई और प्रेमिका भी किसी और के साथ शादी करके उसे छोड़ गई। अनीश ने प्रेम से रवि की हत्या की बात कही। प्रेम ने कहा कि वह यह काम कर देगा, लेकिन इसके लिए पैसे लगेंगे। अनीश ने प्रेम सिंह को डेढ़ लाख रुपये की सुपारी दी।
यह रकम उसने अक्टूबर से पहले ही दे दी थी। अक्टूबर से प्रेम रवि पर हमला करने की फिराक में था और लगातार उसकी रेकी कर रहा था। एक बार उसने रवि पर इंजेक्शन से हमला किया, लेकिन वह सफल नहीं हो पाया था। अक्टूबर के बाद वह जालौन चला गया। अब लौट कर आया तो पूरी तरह वारदात को अंजाम देने के इरादे से आया।

रवि के पिता फौज से रिटायर्ड
रवि के पिता प्रमोद कुमार ने बताया कि वह फौज से रिटायर्ड हैं। रवि पर 25 अक्टूबर की रात लगभग 9 बजे इंजेक्शन से हमला किया गया था। उस समय रवि ऑटो में बिंदापुर में रहने वाले अपने चचिया ससुर के घर जा रहे थे। रास्ते में बाइक सवार ने कमर पर इंजेक्शन चुभाया था। इसके बाद वह बेहोश हो गए थे। अस्पताल ले जाया गया और उपचार काम कर गया। उस समय किसी को समझ नहीं आया कि आखिर किसने और क्यों इस तरह से रवि पर हमला किया।
उन्होंने बताया कि 13 जुलाई को रवि की शादी गांव में की गई थी। लड़की वाले दिल्ली में द्वारका इलाके में रहते हैं लेकिन मूल रूप से सैफई के रहने वाले हैं। शादी के कुछ महीने बाद लड़की मैनपुरी में अपने ससुराल में रही। कुछ दिनों पहले ही वह दिल्ली आई थी। इन दिनों रवि पत्नी के साथ प्रताप नगर इलाके में रह रहे थे। उन्होंने बताया कि रवि 2009 से दिल्ली में रह रहे था। पहले वह गुड़गांव में एक मॉल में जॉब करते थे। 2013 में बैंक में नौकरी जॉइन की थी। 7 जनवरी की रात 9:45 बजे उन्हें इस वारदात का पता चला। रविवार की सुबह वह पत्नी के साथ दिल्ली आ गए और रविवार शाम लगभग 3:45 बजे रवि की मौत हो गई।