हापुड़. विधानसभा चुनाव में आयोग के निर्देश पर पहली बार प्रत्याशियों को अपने सोशल मीडिया एकाउंट के बारे में भी जानकारी देनी होगी। इसके साथ ही नामांकन पत्र पर पहली बार फोटो लगने की व्यवस्था की गई है। इस संबंध में प्रत्याशियों और राजनैतिक दलों के लोगों को जानकारी दी जा रही है।
सोशल मीडिया पर भी चुनाव का खूब शोर हो रहा है। इसे ध्यान में रखते हुए आयोग ने निर्देश दिए हैं कि सोशल मीडिया एकाउंट के बारे में प्रत्याशी जानकारी देंगे। ताकि उनके सोशल मीडिया एकाउंट पर निगाह रखी जा सके। अब तक विधानसभा चुनाव लड़ने वाले प्रत्याशियों के नामांकन पत्र पर फोटो नहीं लगाए जाते थे। लेकिन अब प्रत्याशी को अपना फोटो भी लगाना होगा। रजिस्टर्ड पार्टी के प्रत्याशी को एक प्रस्तावक और निर्दलीय प्रत्याशी को दस प्रस्तावक बनाने होंगे। शपथ पत्र पर अपने परिवार की आय, उधारी, आपराधिक मामले, शैक्षिक योग्यता की जानकारी देनी होगी। चल-अचल संपती की जानकारी देनी होगी। आरक्षित सीट से चुनाव लड़ने वाले प्रत्याशी को जाति प्रमाण पत्र, प्रत्याशी द्वारा खोले गए एकाउंट की जानकारी के साथ उसमें जमा की गई रकम का ब्यौरा देना होगा।
जिलाधिकारी अनिल ढींगरा ने बताया कि चुनाव आयोग के निर्देश पर पहली बार प्रत्याशियों के फेसबुक, वाट्स अप आदि सोशल मीडिया के एकाउंट के बारे में जानकारी ली जाएगी। इसका मकसद है कि सोशल मीडिया पर नजर रख, उस पर हुए खर्च का ब्यौरा लिया जाएगा। आयोग के निर्देशों के संबंध में प्रत्याशी और राजनैतिक दलों के पदाधिकारियों को जानकारी दी जा चुकी है।