निद्रा अवस्था में विराजमान हैं हनुमान, नाभि से निकलता है अमृत

Loading...