आत्मविश्वास से ओतप्रोत भारत के सामने क्वार्टर फाइनल में स्पेन की चुनौती 

 लखनऊ. लीग चरण में तीनों मैच जीतकर ग्रुप में शीर्ष पर रही आत्मविश्वास से लबरेज भारतीय टीम कल जूनियर हाकी विश्व कप क्वार्टर फाइनल में स्पेन से खेलेगी और मौजूदा फार्म को देखते हुए यह चुनौती उसके लिये मुश्किल नहीं लगती.    पंद्रह बरस बाद जूनियर विश्व कप जीतने का इरादा लेकर उतरी भारतीय टीम ने अभी तक उम्दा प्रदर्शन करके खुद को खिताब के प्रबल दावेदारों में शुमार कर लिया है. ग्रुप डी में शीर्ष पर रहने के कारण उसे अंतिम आठ में स्पेन के रुप में कमोबेश आसान चुनौती मिली है. स्पेन की टीम ग्रुप सी में एक जीत, एक हार और एक ड्रा के साथ दूसरे स्थान पर रही.   
कोच हरेंद्र सिंह हालांकि अपनी टीम को आत्ममुग्धता से बचने और स्पेन को हलके में नहीं लेने की ताकीद कर चुके हैं.   उन्होंने कहा कि टूर्नामेंट के पहले चरण में हमारा प्रदर्शन अच्छा रहा. हमारा लक्ष्य पूल में शीर्ष पर रहना था जो हमने हासिल कर लिया. लेकिन क्वार्टर फाइनल में वही सारी टीमें है जिनके खेलने की अपेक्षा थी. हम किसी को हलके में लेने की गलती नहीं करेंगे. मैने खिलाड़ियों से अपने बेसिक्स पर डटे रहने और दबाव नहीं लेने के लिये कहा है. भारत ने पहले मैच में कनाडा को 4-0 से हराने के बाद इंग्लैंड को 5-3 से मात दी हालांकि तीसरे ग्रुप मैच में उसे दक्षिण अफ्रीका पर 2-1 से जीत के लिये मशक्कत करनी पड़ा.
-प्रदर्शन में कोई कमी नहीं   
कोच ने हालांकि कहा कि टीम के प्रदर्शन में कोई कमी नहीं थी और आखिरी लीग मैच में डिफेंस ने कमाल दिखाया.  उन्होंने कहा कि मैं प्रदर्शन से खुश हूं. गोल पर कम शाट्स के बावजूद तीन अंक लेना अच्छा रहा. हमारे डिफेंस का प्रयास सराहनीय था. हम कोशिश कर रहे हैं कि अब नाकआउट में किसी भी कोताही की गुंजाइश ना रहे. भारत के लिये सबसे अनुभवी खिलाड़ी मनदीप सिंह का फार्म बोनस साबित हुआ है जिन्हें दूसरी बार प्लेयर आफ द मैच चुना गया। मनदीप ने कहा कि फिटनेस समस्याओं के कारण चैम्पियंस ट्राफी के बाद मैं सीनियर टीम के लिये नहीं खेल सका. मेरा लक्ष्य इस टूर्नामेंट में बेहतरीन प्रदर्शन करके सीनियर टीम में जगह बनाना है. स्पेन के खिलाफ भी यह लय कायम रखने की कोशिश करुंगा. हरेंद्र ने कहा कि स्पेन के पास कुछ अच्छे स्ट्राइकर है जो किसी भी टीम को चौका सकते हैं लिहाजा उन्हें संभलकर रहना होगा. उन्होंने कहा कि स्पेन के पास कुछ बहुत अच्छे स्ट्राइकर है जिनका प्रदर्शन अच्छा रहा है. हमें उन पर अंकुश लगाकर रखना होगा. स्पेन ने पहले मैच में गत चैम्पियन जर्मनी से 1-2 से हार के बाद जापान को 4-1 से हराया और न्यूजीलैंड से 3-3 से ड्रा खेला.  अन्य क्वार्टर फाइनल मुकाबलों में बेल्जियम का सामना अर्जेंटीना से, जर्मनी का इंग्लैंड से और आस्ट्रेलिया का नीदरलैंड से होगा.  भारत और स्पेन का क्वार्टर फाइनल मैच शाम छह बजे से खेला