एचआईएल के कारण मैं विश्वविद्यालय की फीस दे सकता हूं : टॉम क्रेग
दिल्ली. हाकी इंडिया लीग (एचआईएल) खिलाड़ियों के लिये वित्तीय रुप से काफी फायदेमंद साबित हो रही है और इससे आस्ट्रेलियाई फारवर्ड टॉम क्रेग की जिंदगी बदलने को तैयार हैं जो इस आगामी प्रतियोगिता से होने वाली कमाई से अपनी विश्वविद्यालय की फीस का भुगतान करना चाहते हैं. क्रेग को कलिंगा लांसर्स ने 67,000 डालर में खरीदा था. उन्होंने कहा कि यह धनराशि किसी भी हाकी खिलाड़ी के जीवन में काफी बदलाव ला देगी. उन्होंने कहा कि एचआईएल से मिले मौके की मैं निश्चित रुप से प्रशंसा करुंगा जो खेल को पेशेवर बना रही है और मुझे मिलने वाली राशि निश्चित रुप से सीधे मेरे विश्वविद्यालय की फीस का भुगतान होगा. क्रेग ने कहा कि ज्यादातर युवा आस्ट्रेलियाई हाकी खिलाड़ियों की एचआईएल में काफी दिलचस्पी है और मैं भी इससे अलग नहीं हूं. यह इतना रोमांचक टूर्नामेंट है कि मैं इससे भाग लेने का इंतजार नहीं कर सकता था.