दक्षिण एशियाई युवा उत्सव में हेमा मालिनी को बुलाये जाने पर एनएसयूआई भड़की

इंदौर. दक्षिण एशियाई विश्वविद्यालयों के युवा उत्सव के यहां आगामी 28 फरवरी को आयोजित उद्घाटन समारोह में भाजपा सांसद और मशहूर अभिनेत्री हेमा मालिनी की प्रस्तावित नृत्य प्रस्तुति के खिलाफ कांग्रेस समर्थित भारतीय राष्ट्रीय छात्र संगठन (एनएसयूआई) ने मोर्चा खोल दिया है. यह पांच दिवसीय कार्यक्रम इंदौर के देवी अहिल्या विश्वविद्यालय (डीएवीवी) की मेजबानी में आयोजित होगा.
   कार्यक्रम पर रकम फूंकने के बजाय यह धन विद्यार्थियों के हित में हो खर्च : जावेद खान 
 एनएसयूआई की मध्यप्रदेश इकाई के उपाध्यक्ष जावेद खान ने आज यहां संवाददाताओं से कहा, 'डीएवीवी प्रशासन हेमा मालिनी को उनकी नृत्य प्रस्तुति के लिये 25 लाख रुपये की मोटी फीस देने वाला है, जबकि इस कार्यक्रम के लिये मंच तैयार करने और अन्य व्यवस्थाओं में करीब पांच लाख रुपये के अतिरिक्त खर्च का अनुमान है. विश्वविद्यालय प्रशासन को भाजपा सांसद के कार्यक्रम पर बड़ी रकम फूंकने के बजाय यह धन विद्यार्थियों के हित में खर्च करना चाहिये।  खान ने यह आरोप भी लगाया कि दक्षिण एशियाई विश्वविद्यालयों के 28 फरवरी से चार मार्च तक आयोजित युवा उत्सव में मथुरा की भाजपा सांसद की नृत्य प्रस्तुति की आड़ में डीएवीवी में 'भगवाकरण' को बढ़ावा दिया जा रहा है.
       उन्होंने कहा कि भारतीय विश्वविद्यालय संघ ने इस युवा उत्सव के आयोजन के लिये डीएवीवी को महज 15 लाख रुपये की आर्थिक मदद देने का फैसला किया है. ऐसे में हेमा मालिनी की नृत्य प्रस्तुति के लिये  बड़ी रकम का इंतजाम डीएवीवी को अपने बूते करना होगा।
एनएसयूआई ने हेमा मालिनी की प्रस्तावित नृत्य प्रस्तुति के विरोध में डीएवीवी के कुलपति नरेंद्र धाकड़ को आज ज्ञापन सौंपकर मांग की कि भाजपा सांसद का कार्यक्रम रद्द किया जाये.    एनएसयूआई के आरोपों पर धाकड़ ने कहा कि दक्षिण एशियाई विश्वविद्यालयों के युवा उत्सव में हेमा मालिनी की नृत्य प्रस्तुति के प्रस्ताव को डीएवीवी की कार्य परिषद ने बाकायदा मंजूरी दी  है. चूंकि यह एक अंतरराष्ट्रीय आयोजन है. लिहाजा हमने इसके स्तर केे मुताबिक हेमा मालिनी जैसी मशहूर कलाकार को नृत्य प्रस्तुति के लिये बुलाने का फैसला किया।   उन्होंने कहा, 'नृत्य प्रस्तुति के लिये हेमा मालिनी अकेली नहीं, बल्कि करीब 40 कलाकारों की अपनी टीम के साथ आएंगी। जरुरत पड़ने पर हम उनकी नृत्य प्रस्तुति के लिये प्रायोजकों के जरिये रकम जुटायेंगे।    दक्षिण एशियाई विश्वविद्यालयों के 10 वें युवा उत्सव में भारत, पाकिस्तान, बांग्लादेश, नेपाल, म्यामांर, मालदीव, भूटान, श्रीलंका, मॉरीशस और अफगानिस्तान के करीब 300 विद्यार्थियों के भाग लेने की उम्मीद है. यह  कार्यक्रम दक्षिण एशियाई देशों में शैक्षिक, सामाजिक, सांस्कृतिक और आर्थिक क्षेत्रों में सक्रिय सहयोग विकसित करने के मकसद से आयोजित किया जाता है.