शिकागो. शिकागो में राष्ट्रपति बराक ओबामा की विदाई भाषण के दौरान आंखें भर आईं. उन्हें देख पत्नी मिशेल और बेटी की आंखों में आंसू आ गए. ओबामा ने मिशेल से कहा कि पिछले 25 सालों से तुम सिर्फ मेरी पत्नी और बच्चों की मां ही नहीं हो, बल्कि मेरी सबसे अच्छी दोस्त भी हो. तुमने अपनी भूमिका खुद ली, इसके लिए किसी ने तुम्हें नहीं कहा था. तुमने इस जिम्मेदारी को पूरे धैर्य, अच्छी शैली और खुशीपूर्वक निभाया.
ओबामा ने आगे कहा- तुमने व्हाइट हाउस को ऐसा बनाया, जिससे वहां तक सबकी पहुंच हो गई. नई पीढ़ी के लिए तुम रॉल मॉडल बन गई. मुझे तुम पर गर्व है. तुमने देश को भी गौरवान्वित किया है.
अपनी बेटी मालिया और साशा से ओबामा ने कहा कि विशिष्ट परिस्थितियों में भी आपने जिस तरह का व्यवहार दिखाया वह सराहनीय है. क्योंकि इस दौरान आप दोनों ने सहज और सरल बने रहकर वैचारिक परिपक्वता का परिचय दिया. आप दोनों इस चकाचौंध के दौर में सौम्य बनी रहीं. इन सबक साथ ही मुझे आपका पिता कहलाने पर गर्व है.
गौरतलब है कि आखिर संबोधन में ओबामा ने कहा कि घर आकर अच्छा लग रहा है. उन्होंने कहा कि बदलाव तभी होता है जब आम आदमी इससे जुड़ता है. आम आदमी ही बदलाव लाता है. हर रोज मैंने लोगों से कुछ न कुछ सीखा. हमारे देश के निर्माताओं ने हमें अपने सपने पूरे करने के लिए आजादी दी. हमारी सरकार ने यह प्रयास किया कि सबके पास आर्थिक मौका हो. हमने यह भी प्रयास किया कि अमेरिका हर चैलेंज का सामना करने के लिए तैयार रहे.