गीता और बबिता पीडब्ल्यूएल से बाहर हुई
दिल्ली. पहले ही स्टार खिलाड़ियों के बाहर होने से जूझ रही पेशेवर कुश्ती लीग को एक और झटका लगा है क्योंकि फोगाट बहनों गीता और बबिता का मौजूदा सत्र में खेलना संदिग्ध है. इनके संघर्ष पर बनी फिल्म 'दंगल' सुपरहिट रही जिससे लीग में इनकी मांग भी बढ़ गई. उत्तर प्रदेश फ्रेंचाइजी ने इन दोनों को चुना और आमिर खान अभिनीत फिल्म की सफलता को भुनाने के लिए अपनी टीम का नाम यूपी दंगल रखा.  इन दोनों स्टार पहलवानों का हालांकि मौजूदा टूर्नामेंट में खेलना अब अनिश्चित है. गीता की स्थिति को लेकर विरोधाभासी खबरें आ रही हैं, जबकि बबिता चोटिल हैं. भारतीय कुश्ती महासंघ (डब्ल्यूएफआई) के अनुसार उत्तर प्रदेश की टीम ने गीता और बबिता दोनों के विकल्पों की मांग की है. पिंकी को महिला 53 किग्रा वर्ग में बबिता के विकल्प के रुप में शामिल किया गया है, जबकि मनीषा महिला 58 किग्रा वर्ग में गीता की जगह लेंगी. अधिक वजन वर्ग में चुनौती पेश करने वाली रेशमा माने को अपना वजन घटाने को कहा गया है जिससे कि वह 58 किग्रा वर्ग में फिट हो सकें और गीता की जगह लें क्योंकि वह मनीषा से बेहतर पहलवान हैं. डब्ल्यूएफआई के एक शीर्ष अधिकारी ने कहा कि गीता और बबिता टूर्नामेंट से नहीं हट रही हैं. वे टीम के साथ रहेंगी, लेकिन पूरी संभावना है कि टूर्नामेंट में आगे हिस्सा नहीं लें.