हमारा काम खेल संघों से टकराना नहीं है : गोयल
दिल्ली. खेल मंत्री विजय गोयल ने दागी सुरेश कलमाड़ी और अभय सिंह चौटाला को आजीवन अध्यक्ष नियुक्त करने के फैसले को वापस लेने की भारतीय ओलंपिक संघ (आईओए) की कार्रवाई का स्वागत करते हुए आज यहां कहा कि उनके मंत्रालय का काम खेल संघों से टकराना नहीं है और वे भारत को खेल राष्ट्र बनाने के लिये आईओए के साथ मिलकर काम करेंगे. आईओए ने पिछले महीने चेन्नई में अपनी वार्षिक आम बैठक के दौरान कलमाड़ी और चौटाला को आजीवन अध्यक्ष नियुक्त किया था जिसकी कड़ी आलोचना हुई थी और खेल मंत्रालय ने उसकी मान्यता अस्थायी तौर पर रद्द कर दी थी. आईओए ने हालांकि आज अपना फैसला वापस ले लिया जिसके बाद उसका निलंबन भी समाप्त हो जाएगा. गोयल ने कहा कि मुझे मीडिया रिपोर्टों से पता चला कि आईओए ने सुरेश कलमाड़ी और अभय सिंह चौटाला को आजीवन अध्यक्ष नियुक्त करने के फैसले को रद्द कर दिया है. मुझे खुशी है कि आईओए ने अपनी गलती सुधार ली है. हमारा काम आईओए या खेल संघों से टकराना नहीं है. हमारा काम सबको साथ लेकर चलना है. उन्होंने गलती से कहिये कि या जानबूझकर जिस तरह से सुरेश कलमाड़ी और अभय चौटाला की नियुक्ति की गयी वह सही नहीं थी. अब फैसला वापस लेकर आईओए ने खुद के संवैधानिकों दायित्वों का पालन किया है जिसे अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति (आईओसी) ने शर्तों पर स्वीकार किया है. हम भारत को खेल राष्ट्र बनाने के लिये आईओए के साथ मिलकर काम करने को तैयार हैं. गोयल ने कहा कि पहले क्या हुआ मुझे इसमें विस्तार से नहीं जाना है. महत्वपूर्ण यह है कि उन्होंने अपनी गलती में सुधार कर लिया है. हमने पहले ही अपने खेल सचिव की अध्यक्षता में एक समिति बना दी है जो राष्ट्रीय खेल विकास संहिता को मजबूत करने के लिये उपाय सुझायेगी ताकि खेल संघों को भी काम करने में सुविधा हो.