प्रस्थापितों को टक्कर देने ठाणे में खड़े होंगे लोक-उम्मीदवार 

 
स्वच्छ छवि वाले प्रत्याशी को ही प्राथमिकता 
 
ठाणे. ठाणे मनपा में मतदाताओं पर राजनेताओं द्वारा लादी जाने वाली घराने शाही, कमीशनखोरी में फंसी व्यवस्था और शहर का अवरुद्ध विकास आदि समस्याओं को लेकर अब ठाणेकरों को मुक्ति मिलने के आसार बढ़ गए हैं क्योंकि ठाणे के भ्रष्ट राजनीतिक और सरकारी व्यवस्था को टक्कर देने के लिए जागरूक नागरिक एक मंच पर आ गए हैं. ठाणे के गडकरी रंगायतन में आयोजित एक संवाददाता सम्मेलन में उक्त जानकारी देते हुए ठाणे मतदाता जागरण अभियान की तरफ से बताया गया कि विभिन्न संगठनों और पार्टियों को एक साथ लाकर इस अभियान का गठन किया गया है. बता दें कि फरवरी में मनपा का चुनाव कराया जाने वाला है. ठाणे मतदाता जागरण अभियान के तहत मतदाताओं को जागरुक किया जाने वाला है. साथ ही आम रहिवासियों के बीच में से एक व्यक्ति को चुनाव में खड़ा करने का मन उक्त संस्था ने बनाया है जो स्वच्छ छवि वाला हो. ठाणे मतदाता जागरण अभियान के सदस्यों का कहना है कि वे प्रत्येक प्रभाग में जाकर इसके लिए जागरण मुहिम चलाने वाले हैं और मनपा चुनाव में करीब 50 उम्मीदवार खड़ा करने की उनकी योजना है. इन उम्मीदवारों का चुनाव प्रचार इस संस्था के सभी पदाधिकारी और कार्यकर्ता करेंगे. साथ ही जरुरत पड़ी तो मतदाताओं से पैसे भी एकत्रित करेंगे. जिससे मनपा को भ्रष्टाचार की दलदल से निकाला जा सके और ठाणेकरों को एक स्वच्छ विकासशील ठाणे मिल सके. ऐसा आवाहन अध्यक्ष शालीग्राम और आयोजकों ने किया है. इस अवसर पर सुनील कर्णिक, संजीव साने, वंदना शिंदे, वकील राजय गायकवाड, उन्मेष बागवे, निशिकांत दासूद, जगदीश खैरालिया, डॉ. मेहता आदि लोग मौजूद थे.