मजदूरों को 20 फीसदी बोनस

  • थोरात चीनी मिल की ओर से 30 दिन की सानुग्रह राशि

अहमदनगर. संगमनेर के सहकार महर्षि भाऊसाहब थोरात सहकारी चीनी मिल ने आर्थिक मंदी, कोरोना का संकट होने के बावजूद किसान, सभासद और मजदूरों को मदद करने की परंपरा कायम रखी है. इस वर्ष दिपावली के लिए कारखाना के मजदूरों को 20 फीसदी बोनस और 30 दिन का वेतन सानुग्रह अनुदान के रूप में देने का निर्णय कारखाना के संचालक मंडल ने किया है. यह जानकारी राजस्वमंत्री बालासाहब थोरात ने दी है

  15 किलो चीनी भी दी जाएगी       

 मंत्री थोरात ने कहा कि सहकार महर्षि भाऊसाहब थोरात के आदर्श विचारों के आधार पर कारखाना का कारोबार सफलता से शुरू है. इस वर्ष दिपावली के उपलक्ष्य में कारखाना के मजदूरों को 20 फीसदी बोनस और 30 दिन का वेतन सानुग्रह अनुदान के रूप में देने का निर्णय किया है. बोनस के लिए 5 करोड़ 38 लाख और अनुदान के लिए 2 करोड़ 68 लाख और किसानों के धरोहर राशि के 1 करोड़ 48 लाख रूपए का प्रावधान किया गया है. उसी तरह कारखाना के सभी सभासदों को 15 किलो चीनी दिपावली के लिए नि:शुल्क देने का भी निर्णय संचालक मंडल ने किया है. राजस्वमंत्री बालासाहब थोरात के मार्गदर्शन में किसान और सभासदों के हित का जतन करनेवाले थोरात कारखाना  के अध्यक्ष प्रताप ओहोल, उपाध्यक्ष संतोष हासे, इंद्रजीत थोरात, संचालक मंडल के सदस्य कार्यकारी संचालक जगन्नाथ घुगरकर ने यह परंपरा इस वर्ष भी कायम रखी है.