Absconding journalist Baal Bothe arrested in Hyderabad

    अहमदनगर. यशस्विनी महिला ब्रिगेड की अध्यक्षा, सामाजिक कार्यकर्ता रेखा जरे (Rekha jare) हत्या मामले (Murder Case) में विगत साढ़े तीन महीनों से फरार प्रमुख सूत्रधार पत्रकार बाल बोठे (Baal Bothe) को अहमदनगर पुलिस (Ahmednagar Police) ने  हैदराबाद (Hyderabad) में गिरफ्तार (Arrest) किया। बोठे के फरार होने में मदद करनेवाले 5 लोगों को भी गिरफ्तार किया गया है। यह जानकारी अहमदनगर के पुलिस अधीक्षक मनोज पाटिल ने दी। पुलिस को आशंका है कि रेखा जरे सारी जानकारी सामने लाएंगी, इस डर से उनकी हत्या कर दी गई। लेकिन बोठे की गिरफ्तारी के बाद अब जरे हत्या की गुत्थी सुलझने की उम्मीद है। 

    विशेष बात है कि विगत सप्ताह में ही बोठे की गिरफ्तारी में लापरवाही होने का आरोप लगाकर स्वर्गीय रेखा जरे के बेटे समेत परिजनों ने पुलिस एधीक्षक कार्यालय के सामने भूख हड़ताल भी किया था।

    पारनेर के न्यायालय में पेश किया जाएगा

    अहमदनगर के एसपी मनोज पाटिल नें पत्रकार परिषद में बोठे की गिरफ्तारी के बारे में कहा कि मुंबई क्राइम ब्रांच, सायबर पुलिस की तकनीकी जानकारी के आधार पर बोठे के हैदराबाद में छिपे होने की बात स्पष्ट हुई थी। इस जानकारी के आधार पर विगत 5 दिन लगातार चौबीस घंटे पुलिस का दस्ता हैदराबाद के विभिन्न परिसरों में सर्च आपरेशन कर रहे हैं। इस कार्रवाई के दौरान तीन बार बोठे ने पुलिस को चकमा दिया। गिरफ्तारी से बचने के लिए बोठे लगातार कोशिश कर रहे थे।  शनिवार को मिली पुख्ता जानकारी के आधार पर पुलिस के दस्ते ने हैदराबाद के एक होटल के रूम में छिपे बोठे को गिरफ्तार किया। विशेष बात है कि बोठे के इस रूम को बाहर से ताला लगाया गया था। इस मामले में बोठे को फरार करने में मदद करनेवाले नगर के 1 और हैदराबाद के 4 कुल पांच आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है। रेखा जरे खून मामले में अब तक 10 आरोपी गिरफ्तार हुए हैं। बोठे को गिरफ्तार करने के उपरांत पुलिस उसे लेकर नगर की ओर निकल गई है। बोठे को पुलिस पारनेर के न्यायालय में पेश करेगी। ऐसी जानकारी एसपी मनोज पाटिल ने दी।

    रेखा जरे हत्या मामले में सुलझेगी हत्या की गुत्थी

    30 नवंबर को नगर-पुणे हाइवे पर जातेगांव घाटी में शाम को अपनी निजी कार से अहमदनगर की ओर आनेवाली रेखा जरे की गाड़ी को रोक कर नीचे उतारकर रेखा जरे की गला रेतकर हत्या की गई थी। इस घटना से पूरे राज्य में भारी हड़कंप मचा था, लेकिन पुलिस ने शीघ्र से जांच कर हत्या के दूसरे दिन ही 5 आरोपियों को गिरफ्तार किया था। गिरफ्तार आरोपियों की जानकारी के आधार पर बात सामने आई कि रेखा जरे की हत्या बाल बोठे ने सुपारी देकर करवाई थी। लेकिन हत्या के दूसरे दिन ही बाल बोठे फरार हो गया था। पुलिस के छह दस्ते लगातार राज्य में और बाहरी राज्यों मे भी बाल बोठे को ढूंढने की कोशिश कर रहे थे। लेकिन बोठे पुलिस के हाथ नहीं लगा था। इस दौरान पुलिस ने पारनेर न्यायालय में गिरफ्तार आरोपियों के खिलाफ चार्जशीट भी दायर की।उसी तरह पुलिस की मांग के अनुसार पारनेर न्यायालय ने बोठे को फरार घोषित कर उसे 9 अप्रैल तक पुलिस के सामने सरेंडर करने के आदेश भी जारी किया था। बाल बोठे की गिरफ्तारी को लेकर लापरवाही बरतने का आरोप लगाते हुए रेखा जरे के परिजनों ने पुलिस अधीक्षक कार्यालय के सामने भूख हड़ताल आंदोलन भी किया। बोठे के गिरफ्तार होने के बाद रेखा जरे हत्या मामले की गुत्थी सुलझने की उम्मीद है।