31 positives in rapid antigen test in district, 5,600 people tested till date

अहमदनगर. भारतीय जैन संगठन (बीजेएस) और फोर्स मोटर्स के मिशन जीरो अहमदनगर मुहिम  के तहत कोरोना महामारी को रोकने में कामयाबी मिली. इस उपक्रम के तहत नगर जिले में प्रशासन के सहयोग से करीब 10 हजार से अधिक लोगों के कोरोना रैपिड टेस्ट किए गए और करीब 2 हजार से अधिक कोरोना मरीजों को खोजने में सफलता मिली. 

जिले में कोरोना को नियंत्रण में लाने में बीजेएस की भूमिका महत्वपूर्ण साबित हुई. ऐसी जानकारी बीजेएस के राज्य कार्यकारिणी सदस्य तथा प्रोजेक्ट चेयरमैन आदेश चंगेडिया,शहर अध्यक्ष प्रशांत गांधी ने दी.

‘मिशन जीरो अहमद नगर’ मुहिम चलाई

नगर में कोरोना महामारी का संक्रमण तेजी से फैलने के दौरान बीजेएस और फोर्स मोटर्स के संयुक्त तत्वाधान में कोरोनो पाजिटिव मरीजों की तलाश करने के लिए ‘मिशन जीरो अहमदनगर’ मुहिम चलाई गई. अगस्त महीने में मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के हाथों इसका शुभारंभ किया गया. इस उपक्रम के तहत शहर के विभिन्न इलाकों में कैंप आयोजित कर करीब 10 हजार से अधिक संदिग्ध लोगों की कोरोना रैपिड एंटीजेन टेस्ट किए गए. जिससे करीब 2 हजार मरीजों की पहचान हो सकी. टेस्ट करने के साथ संक्रमित पाए गए मरीजों को विलगीकरण करने के कारण कोरोना के संक्रमण पर भारी मात्रा में नियंत्रण करना संभव हुआ.

लोगों की जनजागृति की गई

तत्कालीन जिलाधिकारी राहुल द्विवेदी, जिला सिविल सर्जन डॉ.सुनील पोकरणा, डॉ.बापूसाहब गाढे, दिलीप बोंदर्डे, मनपा कमिश्नर श्रीकांत मायकलवार, स्वास्थ्य अधिकारी डॉ.अनिल बोरगे, डॉ.तांदले,डॉ.दलवी,योगेश औटी आदि का विशेष सहयोग मिला. ‘मिशन जीरो अहमदनगर’ के तहत लोगों के प्रत्यक्ष टेस्ट करने का सराहनीय काम बीजेएस की प्रतीक्षा जगदाले,कीर्ति नवले,सुवर्णा तिवारी,स्वयंसेवक आदिनाथ वाडेकर,सुहास नवले,प्रतीक जगदाले,अक्षय कानडे ने किया. अक्षता शर्मा ने पूरे अभियान में समन्वयक के रूप में काम किया. कोरोना टेस्ट कराने के साथ इस उपक्रम के दौरान लोगों को कोरोना के बारे में जनजागृति करते हुए उनके मन से कोरोना का डर दूर करने का भी काम किया गया. उसी तरह मरीजों की तलाश करने के लिए जिला प्रशासन की ट्रेसिंग मुहिम में भी बीजेएस ने सक्रिय सहयोग दिया. इन सब बातों के कारण नगर जिले में कोरोना पर नियंत्रण करना संभव हो सका.