मराठा आरक्षण मामले की सुनवाई जल्द की जाए

अहमदनगर. सर्वोच्च न्यायालय ने 9 सितंबर को दिए आदेश के अनुसार मराठा आरक्षण की सुनवाई पूर्ण खंडपीठ को सौंपने का आदेश देते समय आरक्षण को स्थगिती दी है. सर्वोच्च न्यायालय ने घटना पीठ ने मराठा आरक्षण मामले की सुनवाई जल्द कराने की मांग कोपरगांव के युवा नेता सुमित कोल्हे ने की है.

कोपरगांव के सकल मराठा समाज की ओर से  सुमित कोल्हे के नेतृत्व में मराठा समाज के प्रतिनिधि मंडल ने नायब तहसीलदार मनीषा कुलकर्णी को इस मांग का निवेदन दिया. शिवसेना के भरत मोरे, राष्ट्रवादी कांग्रेस के अशोक आव्हाटे, नगरपालिका के सभापति स्वप्निल निखाडे, कृष्णा आढाव, नगरसेवक बालासाहब आढाव, विजय आढाव, रवि रोहमारे, दिनेश पवार, अमोक भाकरे, स्वप्निल औताडे आदि उपस्थित थे. 

निवेदन में कहा है कि मराठा आरक्षण को स्थगिति मिलने से सुनवाई पूरी होकर निर्णय होने तक नौकरी और शिक्षण में मराठा समाज को आरक्षण का फायदा नहीं मिलनेवाला है. इसी कारण मराठा समाज के युवकों का नुकसान टालने के लिए इस मामले में सर्वोच्च न्यायालय में सुनवाई की प्रक्रिया जल्द पूरी होकर समाज को न्याय मिलना आवश्यक है.