संजीवनी की अंजली कारवा देश में प्रथम

अहमदनगर. एन्टैंबइस स्कूल मैनेजमेंट के साफ्टवेयर की आपूर्ति करनेवीली कंपनी ने हैज फेमिनिजम गान टू फार विषय पर राष्ट्रीय स्तर पर आयोजित वाद विवाद प्रतियोगिता में कोपरगांव के संजीवनी अकादमी स्कूल की अंजली कारवा ने पूरे देश में प्रथम स्थान हासिल किया. इसी प्रतियोगिता में संजीवनी की संस्कृति पाटिल ने भी सराहनीय प्रदर्शन किया. यह जानकारी संचालिका मनाली कोल्हे ने दी है.

संस्कृति पाटिल का भी सराहनीय प्रदर्शन

मनाली कोल्हे ने कहा कि एन्टैंब द्वारा छात्रों की गुण और प्रतिभा संपन्नता को साबित कराने के लिए राष्ट्रीय स्तर पर वाद-विवाद स्पर्धा का आनलाइन तरीके से आयोजन किया गया था. इस स्पर्धा में महाराष्ट्र के अनेक स्कूल ने पंजीकरण किया था, लेकिन कंपनी ने निश्चित किए विविध निकषों के आधार पर प्रवेश के लिए संजीवनी की अंजली कारवा और संस्कृति पाटिल पात्र साबित हुईं. अंजली कारवा ने इस स्पर्धा में अव्वल स्थान हासिल कर संजीवनी का नाम पूरे देश में रोशन किया है. उसी तरह संस्कृति पाटिल ने भी वाद-विवाद के दौरान अच्छा प्रदर्शन कर परीक्षकों से सराहना प्राप्त की. यू-ट्यूब के माध्यम से इस स्पर्धा को लाइव दिखाया गया. संजीवनी ग्रुप आफ इन्स्टिट्यूट के कार्याध्यक्ष नितिन कोल्हे, मैनेजिंग ट्रस्टी अमित कोल्हे, मनाली कोल्हे ने अंजली कारवा, संस्कृति पाटिल, प्राचार्य सुंदरी सुब्रमण्यम और अध्यापकों का अभिनंदन किया है.