खेती के आधुनिकीकरण में शैंम्प्रो संस्था की भारी उपयोगिता

– राजस्वमंत्री बालासाहब थोरात का प्रतिपादन

अहमदनगर. संगमनेर तहसील में शैंम्प्रो  किसानों को किफायती दरों में विविध औजार और खेती साहित्य की आपूर्ति करनेवाली एक प्रसिद्ध संस्था है. बदलते समय के अनुसार आधुनिक तकनीक सेवा देने के साथ ट्रैक्टर बिक्री के इस दालन से शैम्प्रो संस्था की भारी उपयोगिता है. ऐसा प्रतिपादन राजस्वमंत्री बालासाहब थोरात ने किया.

संगमनेर में चीनी मिल परिसर में शुरू किए शैम्प्रो के दालन का शुभारंभ बालासाहब थोरात के हाथों किया गया. विधायक डॉ.सुधीर तांबे,बाजीराव खेमनर पाटिल,नगराध्यक्षा दुर्गा तांबे,सत्यजित तांबे,कारखाना अध्यक्ष बाबा ओहोल,उपाध्यक्ष संतोष हासे, शैंम्प्रो के चेअरमन रामहरी कातोरे,वाईस चेअरमन सुभाष सांगले,सभापति सुनंदा जोर्वेकर,जिला परिषद की सभापति मिरा शेटे,अर्चना बालोडे,अमित पंडित,शिवाजीराव थोरात, शैंम्प्रो के मैने जर जगन्नाथ गोडगे आदि समेय विविध क्षेत्र के मान्यवर और कार्यकर्ता उपस्थित थे.

आधुनिक तकनीक भी उपलब्ध कराने में पहल

 राजस्वमंत्री थोरात ने कहा कि संगमनेर तहसील में चीनी कारखाना, खेती संघ के साथ किसानों को खेती औजार और खेती का साहित्य, खाद आदि रियायत के दरों में उपलब्ध कराने के लिए स्वर्गीय भाऊसाहब थोरात ने शैंम्प्रो की स्थापना की. तहसील में पाईपलाइन का जाल निर्माण कराने में शैंम्प्रो का भारी योगदान रहा है. बदलते समय के अनुसार शैंम्प्रो ने किसानों को आधुनिक तकनीक  भी उपलब्ध कराने में पहल की है. अब ट्रैक्टर के दालन का शुभारंभ निश्चित ही सराहनीय काम है. चेयरमैन कातोरे ने प्रस्तावना की. नामदेव कहांडल ने कार्यक्रम का सूत्रसंचालन किया.