कुलगुरु डॉ. के. पी. विश्वनाथा सर्वाधिक समर्पित कुलगुरु पुरस्कार से सम्मानित

  • गोल्डन एमआईएम कान्फरैंन्स एंड एवार्ड्स ने प्रदान किया पुरस्कार

अहमदनगर. राहुरी के महात्मा फुले कृषि विद्यापीठ के कुलगुरु डॉ. के.पी. विश्वनाथा को उनके शैक्षणिक क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य और नेतृत्व के लिए सबसे समर्पित कुलगुरु पुरस्कार देकर नवाजा गया है. गोल्डन एआइएम कांफ्रेंस एंड एवार्ड्स की ओर से आयोजित आनलाइन समारोह में कुलगुरु डॉ. विश्वनाथा को यह पुरस्कार प्रदान किया गया.

क्लीन एंड ग्रीन युनिवर्सिटी को बढ़ावा

बंगलुरू के कृषि विज्ञान विद्यापीठ से पीएचडी प्राप्त किए कुलगुरु डॉ. ने तमिलनाडू के अन्नामलाई युनिवर्सिटी से भी पीएचडी हासिल की है. राहुरी के महात्मा फुले कृषि विद्यापीठ में कुलगुरु नियुक्त होने के उपरांत उन्होंने विद्यापीठ परिसर में स्वच्छता अभियान को एक आंदोलन का स्वरूप दिया. क्लीन एंड ग्रीन यूनिवर्सिटी की संकल्पना को उन्होंने बढ़ावा दिया.

कंपोस्ट खाद निर्मिति को प्रोत्साहन

विद्यापीठ कार्यक्षेत्र के 10 जिलों में संशोधन केंद्र, कृषि महाविद्यालय और कृषि तंत्र विद्यालयों में कंपोस्ट खाद के निर्मिती को उन्होंने प्रोत्साहन दिया. कुलगुरु डॉ.विश्वनाथा की पहल से वनमहोत्सव के तहत विद्यापीठ क्षेत्र में 1 लाख 6 हजार पौधों का रोपण किया गया. इस सराहनीय कार्य के लिए गोल्डन एआयएम कांफ्रेंस एंड एवार्डस ने कुलगुरु डॉ. विश्वनाथा को सबसे समर्पित कुलगुरु पुरस्कार देकर सम्मानित किया है. इस पुरस्कार के लिए सभी स्तर पर उनका अभिनंदन किया है.