Research: Scientists explain the results of the continued spread of Covid-19
File

अकोला. गुरुवार को सरकारी मेडिकल कालेज व सर्वोपचार अस्पताल से प्राप्त 110 संदिग्ध मरीजों की रिपोर्ट में 14 मरीजों की रिपोर्ट पाजिटिव तथा 96 मरीजों की रिपोर्ट निगेटिव आई हैं. पाजिटिव मरीजों में 7 महिला व 7 पुरुष का समावेश है. जिसमें 4 बालापुर, 2 हरिहर पेठ तथा अन्य बाकी मरीजों में गुलजारपुरा, त्रिमूर्ति भवन, पुराना शहर, बड़ी उमरी, शिवसेना वसाहत, शंकर नगर, चांदुर खडकी व खडकी के निवासियों का समावेश है. आज और 2 कोरोना संक्रमितों की मौत हो गई है. जिसमें 16 जून को अस्पताल में दाखिल कारंजा लाड जिला वाशिम निवासी 57 वर्षीय महिला मरीज व 11 जून को अस्पताल में दाखिल हरिहर मंदिर के पास निवासी 77 वर्षीय पुरुष मरीज की उपचार के दौरान मौत हो गई है. अब तक 58 संक्रमितों की मौत हो गई हैं.

जिसमें से एक ने आत्महत्या की है. आज और 17 मरीजों को डिस्चार्ज दिया गया है. जिसमें 13 मरीजों की घर पर रवानगी की गई तथा अन्य 4 मरीजों को कोविड केयर सेंटर में निरीक्षण में रखा गया है. अब तक 724 कोरोना वायरस संक्रमित मरीजों को ठीक होने के बाद अस्पताल से डिस्चार्ज दिया गया है. अब अकोला में कोरोना वायरस संक्रमित मरीजों की संख्या 1,106 तक पहुंच गई है. अभी 324 कोरोना वायरस संक्रमित सक्रिय मरीजों पर अस्पताल में उपचार शुरू है. यह जानकारी सरकारी मेडिकल कालेज व सर्वोपचार अस्पताल के सूत्रों ने दी है. 

मेडिकल की नई डीन एक्शन मोड में 
अकोला जिले में कोरोना संक्रमितों की संख्या में वृद्धि चिंताजनक होने का बताकर अब अकोला में कोल्हापुर पैटर्न चलाकर यह संख्या नियंत्रण में लाने के लिए प्रयास किए जाने की जानकारी सरकारी मेडिकल कालेज व सर्वोपचार अस्पताल की नई अधिष्ठाता (डीन) डा. मीनाक्षी गजभिये ने दी है. कोरोना के मरीजों पर सर्वोपचार के 210 बेड की इमारत में पिछले 2 माह से उपचार शुरू है. इस परिसर में स्वास्थ्य कर्मचारियों के क्वार्टर्स व छात्रावास होने से यहां पर रहनेवालों को कोरोना संक्रमण का खतरा  होने की आशंका है, इसलिए यहां के परिवार को अन्यत्र ले जाने की कार्रवाई शुरू की गई है. डा. गजभिये ने कोविड वार्ड परिसर का मुआयना करने पर कोरोनाग्रस्त के उपचार के लिए इमारत का चयन करना गलत होने का ध्यान में आने के बाद यह निर्णय लिया गया है. 

प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में 135 व्यक्तियों की जांच 
कोरोना वायरस का प्रसार रोकने के लिए जिला प्रशासन व स्वास्थ्य विभाग की ओर से विविध स्तर पर उपाय योजना किए जा रहे हैं प्रतिदिन जांच करनेवालों की संख्या बढ़ती जा रही है. गुरुवार को जिले के सातों तहसीलों के 135 व्यक्तियों की प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में जांच की गई है. कोरोना को रोकने के लिए जिला परिषद के स्वास्थ्य विभाग की ओर से प्रयास किए जा रहे है. बाहर गांव से आनेवाले यात्रियों की प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में जांच की जा रही है. इसके लिए जिला स्तरीय शीघ्र प्रतिसाद पथक तैयार किया गया है. सर्वाधिक जांच मूर्तिजापुर तहसील में की गई है. अकोला तहसील 4, अकोट 8, बालापुर 15, बार्शीटाकली 36, पातुर 2, मूर्तिजापुर 49, तेल्हारा 21 कुल मिलाकर 135 व्यक्तियों की जांच की गई है.