168 समुदाय स्वास्थ्य अधिकारी की नियुक्ति – स्वास्थ्य सेवा को मिला आधार

  • ग्रामीण क्षेत्रों में स्वास्थ्य सेवा को मजबूती

अकोला. ग्रामीण क्षेत्रों में स्वास्थ्य सेवा को मजबूत करने तथा स्वास्थ्यवर्धिनि केंद्र के अंतर्गत मरीजों को सेवा देने के लिए जिले में 168 समुदाय स्वास्थ्य अधिकारियों की नियुक्ति की गयी है. उन्हें स्वास्थ्य प्रशिक्षण भी दिया गया है. जिला परिषद के कर्मचारी भवन में यह उपक्रम चलाया गया है. ग्रामीण क्षेत्र की स्वास्थ्य यंत्रणा मजबूत करने के लिए 1000 जनसंख्या वाले गांवों में स्वास्थ्यवर्धिनि केंद्र के अंतर्गत मरीजों की सेवा को मजबूत किया जा रहा है.

इसके लिए नियुक्त समुदाय स्वास्थ्य अधिकारी को प्रशिक्षण दिया गया है. जिसके तहत विभिन्न राष्ट्रीय कार्यक्रमों पर मार्गदर्शन दिया गया है. उन्हें टीबी, कुष्ठ रोग, गैर संसर्गजन्य रोगों और अन्य राष्ट्रीय कार्यक्रमों के बारे में विस्तृत जानकारी दी गई. इस अवसर पर मार्गदर्शक के रूप में जिला शल्य चिकित्सक डा.राजकुमार चौहान, जिला स्वास्थ्य अधिकारी डा.सुरेश आसोले, जिला मातृ एवं शिशु देखभाल अधिकारी डा.मनीष शर्मा, कुष्ठ रोग सहायक संचालक डा.एम.एम. राठोड़, जिला क्षयरोग अधिकारी डा.मेघा गोले आदि उपस्थित थे.

नियुक्त डाक्टर को सर्वे के दौरान मरीज मिलने पर उसे उपचार के लिए स्वास्थ्यविर्धिनि केंद्र में भेजा जाएगा. मरीज गंभीर अवस्था में रहने पर समुदाय स्वास्थ्य अधिकारी मरीज के घर जाकर उपचार देंगे. यह अभियान हर किसी को समय पर और उचित इलाज कराने में मदद करने वाला है. आशा वर्कर्स इस अभियान में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाएंगी और केंद्र के माध्यम से डोर-टू-डोर सर्वेक्षण की भूमिका निभाएंगी.

इस माध्यम से रक्तचाप, रक्त परीक्षण, मुंह के कैंसर, कैंसर और महिलाओं से संबंधित बीमारियों की जांच की जाएगी. ग्रामीण क्षेत्रों में पुरुषों और महिलाओं के रोगों का समय पर निदान और समय पर उपचार सुनिश्चित करने के लिए आरोग्य वर्धिनी केंद्र के तहत एक सर्वेक्षण और जांच अभियान चलाया गया है. इसके लिए एक हजार और उससे अधिक आबादी वाले गांवों में 168 स्वास्थ्य अधिकारी नियुक्त किए गए हैं.