‘नो मास्क, नो सवारी’ के बाद अब ‘नो मास्क, नो राईड’ मुहिम प्रारंभ

अकोला. जिन स्थानों पर सामाजिक अंतर रखने संभव नहीं है, ऐसे स्थानों पर शहर यातायात पुलिस द्वारा अलग अलग मुहिम चलाकर मास्क बंधनकारक किया है. उसी तर्ज पर अब मोटरसाईकिल चलाते समय मास्क लगाना बंधनकारक किया गया है. विशेष रुप से मोटरसाईकिल पर डबल सीट जाते समय मोटरसाईकिल चलानेवाले तथा पीछली सीट पर बैठनेवाले व्यक्ति को चेहरे पर मास्क लगाना आवश्यक है.

मास्क लगाए बिना मोटरसाईकिल चलानेवाले चालक के खिलाफ दंडात्मक कार्रवाई की जाएगी, यह सूचना देते हुए पुलिस निरीक्षक गजानन शेलके ने ‘नो मास्क, नो सवारी’ के बाद अब ‘नो मास्क, नो राईड’ यह मुहिम की जानकारी दी. पिछले 10 दिनों से शहर यातायात शाखा द्वारा ‘नो मास्क, नो सवारी’ मुहिम चलायी जा रही है.

उक्त मुहिम की दखल महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री और गृहमंत्री ने ली है. जिसके बाद यह मुहिम अन्य जिलों में भी शुरु की गयी. इस मुहिम का सकारात्मक नतीजा अकोला शहर में दिखाई दे रहा है.

अकोला महानगर में बड़ी संख्या में ऑटोचालकों ने कार्रवाई के डर से मास्क का उपयोग करना शुरु किया है. जिसका सकारात्मक परिणाम होकर अब कोरोना मरीजों का प्रमाण उस तुलना में कम दिखाई दे रहा है. इसके लिए ऑटोचालक व अन्य सभी नागरिकों की ओर से सहयोग मिल रहा है.

कोरोना के घटते ग्राफ को बनाए रखने के लिए यातायात शाखा द्वारा आगामी त्योहारों के दिनों भीड़ न होने की दृष्टि से कदम उठाते हुए पुलिस अधीक्षक अधीक्षक जी. श्रीधर, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक मोनिका राऊत, उप विभागीय पुलिस अधिकारी सचिन कदम  के मार्गदर्शन में शहर यातायात शाखा के पुलिस निरीक्षक गजानन शेलके के नेतृत्व में ‘नो मास्क, नो राईड’ मुहिम चलायी जा रही है.

इसी तरह कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए मेरा परिवार मेरी जिम्मेदारी इस मुहिम के अंतर्गत सरकार द्वारा जारी सूचनाओं का पूरी तरह पालन नागरिकों ने पूरी तरह पालन करने तथा प्रशासन को सहयोग करने पर ही अकोला जिले में कोरोना का ग्राफ घटने में सफलता मिलेगी. जिससे विशेष रुप से मोटरसाईकिल चलाते समय मास्क लगाना बंधनकारक है. अन्य दंडात्मक कार्रवाई की जाएगी, यह सूचना पुलिस निरीक्षक गजानन शेलके ने दी है और सभी से सहयोग करने का आहवान भी किया है.