अतिक्रमण की चपेट में अकोला शहर, हॉकर्स जोन का निर्माण न होने से

    • बाजारों में सड़कों पर चलना हुआ मुश्किल

    अकोला. अकोला शहर का कोई क्षेत्र ऐसा नहीं है जहां पर स्थायी नहीं तो अस्थायी अतिक्रमण न हो. शहर के सभी क्षेत्रों में अतिक्रमण देखा जा सकता है. सर्वाधिक अतिक्रमण तो शहर के मुख्य बाजारपेठ क्षेत्रों में है. कहीं कहीं तो इस प्रकार की परिस्थिति हो गई है कि अब लोगों का रास्ता चलना मुश्किल होने लगा है.

    महात्मा गांधी रोड

    महात्मा गांधी रोड यह शहर का हृदय स्थल है. सोने चांदी के शोरूम के साथ साथ कई तरह के महत्वपूर्ण प्रतिष्ठान इस मार्ग पर हैं. इस मार्ग पर अब अस्थायी अतिक्रमण इतना हो गया है, कि लोगों को वाहन चलाना भी मुश्किल होने लगा है. अस्थायी अतिक्रमण के कारण महात्मा गांधी मार्ग संकरा होकर रह गया है. कई बार मनपा द्वारा अतिक्रमण हटाया जाता है, कुछ ही घंटों में फिर पहले के समान स्थिति हो जाती है. कुल मिलाकर इस मार्ग की स्थिति बहुत खराब है. 

    जैन मंदिर रोड

    मुख्य बाजारपेठ के जैन मंदिर रोड से पुराना कपड़ा बाजार, कोठड़ी बाजार, मोहम्मद अली रोड, सराफा बाजार, पुराना किराणा बाजार, दाना बाजार, पुराना सब्जी बाजार आदि क्षेत्रों में जाने के लिए लोगों को यहां से ही गुजरना पड़ता है. इस मार्ग पर तो अब अस्थायी अतिक्रमण इतना है कि लोगों को वाहन चलाना तो दूर पैदल चलना भी अब मुश्किल होने लगा है. लगातार शिकायत के बावजूद मनपा का ध्यान इस ओर नहीं जा रहा है. 

    मोहम्मद अली रोड

    मोहम्मद अली रोड भी शहर का एक महत्वपूर्ण मार्ग है. इस मार्ग पर भी विभिन्न वस्तुओं के कई महत्वपूर्ण प्रतिष्ठान हैं. और तो और कई पुराने प्रतिष्ठान भी यहां हैं. इस मार्ग की स्थिति भी फिलहाल बहुत खराब है. इस मार्ग पर भी कई अस्थायी अतिक्रमण हैं. जिनके कारण यह महत्वपूर्ण मार्ग भी संकरा हो गया है. जिसके कारण अब यहां स्थित प्रतिष्ठानों में आने जाने में भी लोगों को तकलीफ होने लगी है. इस ओर भी ध्यान दिया जाना जरूरी है. 

    ओपन थिएटर रोड

    जनता सब्जी बाजार, नया कपड़ा बाजार आदि महत्वपूर्ण क्षेत्रों में जाने के लिए ओपन थिएटर रोड से गुजरना पड़ता है. इस मार्ग पर तो अस्थायी अतिक्रमण की चरम सीमा हो गई है. यह काफी चौड़ा मार्ग है लेकिन अब धीरे धीरे काफी संकरा हो गया है. इस मार्ग की स्थिति भी दिन प्रतिदिन बिगड़ती जा रही है. 

    हॉकर्स जोन न होने से स्थिति बिगड़ी

    अभी तक हॉकर्स जोन न बनाए जाने से स्थिति बिगड़ती जा रही है और अस्थायी अतिक्रमण के कारण मार्ग संकरे होते जा रहे हैं. जिसके कारण यातायात भी प्रभावित होने लगा है. शहर के सभी क्षेत्रों में यदि हॉकर्स जोन का निर्माण किया जाए तो मुख्य मार्गों पर स्थित अस्थायी अतिक्रमण काफी कम हो सकता है और मुख्य मार्गों पर जमी हाथगाड़ियां तथा अन्य भीड़ कम हो सकती है.