आषाढ़ी एकादशी बहुत उत्साह के साथ मनाई गई, लोगों ने उपवास रख कर मनाया त्यौहार

    • विठ्ठल मंदिर में विधायक गोवर्धन शर्मा ने किया पूजन
    • कहा हे ईश्वर देश को कोरोना से मुक्त करो 

    अकोला. शहर तथा जिले में आषाढ़ी एकादशी बहुत उत्साह के साथ मनाई गई. फिलहाल कोरोना की दूसरी लहर समाप्ति की ओर है, उस अनुसार लोगों में काफी उत्साह देखा गया. आज भी सभी मंदिर लाकडाउन के कारण बंद रहे. लोगों ने अपने घरों में ही पूजन तथा उपवास करते हुए आषाढ़ी एकादशी का त्यौहार मनाया.

    ऐसा कहा जाता है कि आज के दिन जो लोग उपवास रखते हैं उन लोगों की सभी मनोकामना पूरी होती है. बड़ी संख्या में लोगों ने मंदिर बंद होने के कारण अपने अपने आराध्य देवताओं के मंदिरों के सामने खड़े रहकर ईश्वर को प्रणाम करते हुए प्रार्थना की. 

    हे ईश्वर देश को कोरोना से मुक्त करो-विधायक गोवर्धन शर्मा

    आज सुबह तड़के विधायक गोवर्धन शर्मा ने पुराना शहर स्थित अनेकों वर्ष पुराने विठ्ठल मंदिर में करीब एक घंटे तक पूजा अर्चना की. इस अवसर पर उन्होंने भगवान से प्रार्थना की कि हे भगवान, हे ईश्वर हमारे देश को कोरोना से मुक्त करो. उनके द्वारा विधिवत पूजन किया गया.

    इस अवसर पर उनके साथ विलास अनासाने, रमेश अलकरी, पार्षद सतीश ढगे, श्याम घाटे, राधेश्याम शर्मा, ओमप्रकाश छावछरिया, पार्षद गिरीश जोशी, प्रवीण मानकर, सचिन मुदीराज, यशोधन गोडबोले आदि प्रमुखता से उपस्थित थे. सुबह तड़के यह पूजा अर्चना की गयी. इस अवसर पर कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिए स्वास्थ्य विभाग द्वारा दी गई सभी सूचनाओं का पालन किया गया. 

    आज अनेक वस्तुओं की हुई बिक्री

    आज आषाढ़ी एकादशी के उपलक्ष्य में शहर के सभी रेस्टारेंटों और होटलों में उपवास के पदार्थ बड़ी संख्या में बनाए गए थे. सभी जगह उपवास की साबूदाने की खिचड़ी, उपवास के आलूबड़े, उपवास की खोवे की जलेबी के साथ साथ विभिन्न प्रकार के खाद्यपदार्थ उपलब्ध थे. आज सभी मिठाई की दूकानों और होटलों में काफी भीड़ देखी गई. उपवास का चूड़ा भी लोगों ने खरीदा.

    इसी तरह विभिन्न प्रकार के फलों के साथ साथ सकरकंद आदि की बिक्री भी हुई. राजगुरा लाही, राजगुरे के लड्डू, गुड़पट्टी आदि की भी काफी बिक्री हुई. बड़ी संख्या में लोगों ने अपने घरों में भी उपवास के खाद्य पदार्थ बनाए, वहीं बड़ी संख्या में लोगों ने होटलों से भी विभिन्न खाद्य पदार्थ खरीदे. इसी के साथ साथ दूध और दही की भी काफी बिक्री हुई.