During the Corona period, the police became the support of the poor, distributing food grains and food

    अकोला. जिले में पुलिस थाना कैसे काम कर रहा है, इस पर हर महीने वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों द्वारा एक सर्वेक्षण किया जाता है, उसी के आधार पर थाने को दर्जा दिया जाता है. मई माह में अकोला शहर उप विभाग से एमआईडीसी पुलिस थाना तथा ग्रामीण से अकोट ग्रामीण पुलिस थाने का कार्य बेहतर रहा है. जिससे अपराधों से संबंधित बैठक के बाद पुलिस अधीक्षक जी.श्रीधर ने उत्कृष्ट कार्य करनेवाले थानेदारों का प्रमाणपत्र प्रदान कर सत्कार किया.

    जिसमें अकोला शहर उप विभाग के अंतर्गत एमआईडीसी थाने को प्रथम, खदान पुलिस थाने को द्वितीय तथा अकोट फैल पुलिस थाने को तृतीय स्थान मिला. इसके साथ ही अकोट उप विभाग के अंतर्गत अकोट ग्रामीण को प्रथम, अकोट शहर को द्वितीय तथा दहिहांडा पुलिस थाने को तृतीय स्थान मिला है.

    प्राप्त जानकारी के अनुसार पुलिस थानों का मुल्यांकन करने के लिए पुलिस पुलिस अधीक्षक जी.श्रीधर, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक मोनिका राऊत, एसडीपीओ सचिन कदम ने पुलिस थाने की कार्यप्रणाली का जायजा लिया था. जिसमें थाने में प्रलंबित प्रकरणों की संख्या, बीपी एक्ट की कार्यवाही, समन्स जारी करना, शिकायतों की जांच की गति, आरोपितों की गिरफ्तारी व अन्य कई पहलुओं की जांच की गयी थी.