29 आंगनबाड़ियों का निर्माण कार्य प्रगति पर

  • जिले की आंगनवाड़ियों को मिली
  • 6 करोड़ 28 लाख रु. की निधि

अकोला. कोरोना संकट के दौरान जिले में आंगनवाड़ियों के बच्चों को घर पहुंच पौष्टिक आहार पहुंचाने में अकोला ने बाजी मारी है. इसी तरह इन हजारों बच्चों में उचित सुविधाएं उपलब्ध करवाने में भी आगे रहने का चित्र सामने आ रहा है. जिले में इस वक्त 29 आंगनवाड़ियों की दुरुस्ती व निर्माण कार्य प्रगति पद पर है, यह कार्य जिला परिषद के निर्माण कार्य विभाग की ओर से किया जा रहा है. अकोला जिले में कुल 1,390 आंगनवाड़ियां हैं. जिसमें 132 मिनी आंगनवाड़ियों का समावेश है.

उक्त आंगनवाड़ियों में 1,258 ग्राम पंचायत की इमारत में शुरु है तथा 132 आंगनवाडियों के लिए इमारत उपलब्ध नहीं है. जिससे वे शालाओं की इमारत में चलायी जा रही है. 29 आंगनवाड़ियों का काम जिला परिषद के निर्माण कार्य विभाग द्वारा किया जा रहा है. इसी तरह 48 आंगनवाड़ियां यह समाज मंदिरों में चलायी जा रही है. जिले में आंगनवाड़ियों के लिए जिला नियोजन समिति की ओर से कुल 6 करोड़ 28 लाख रु. की निधि प्राप्त हुई है, जिसमें से 2 करोड़ 46 लाख 50 हजार रु. नई आंगनवाड़ियों के निर्माण कार्य हेतु खर्च किए जा रहे हैं तथा शेष निधि का उपयोग आंगनवाड़ियों की दुरुस्ती के लिए किया जा रहा है.

जिले में 384 आंगनवाड़ियों की इमारतें पुरानी होने की वजह से उनका नवनीकरण किया जा रहा है जिसके लिए प्रत्येक आंगनवाड़ी की दुरुस्ती हेतु 1 लाख रु. खर्च किया जाएगा. वर्ष 2021-22 के लिए, जिले में 48 नए आंगनवाड़ियों का प्रस्ताव किया गया है. वर्तमान में, 29 आंगनवाड़ियों का निर्माण कार्य प्रगति पर है और इसके पूरा होने की समय सीमा 31 मार्च, 2021 है. यदि इस अवधि के भीतर काम पूरा नहीं हुआ है, तो शेष निधि सरकार को लौटाने की आशंक होने से यह कार्य युद्ध स्तर पर किया जा रहा है. 29 आंगनवाड़ियों में इस समय टाईल्स, पेवर्स, दरवाजे, खिड़कियां बैठाने के साथ साथ प्लास्टर तथा रंगरोंगन कार्य शुरु है. जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी सौरभ कटियार ने हाल ही में निर्माणाधीन आंगनवाड़ियों का दौरा किया और प्रगति पर संतोष व्यक्त किया है, यह जानकारी जिला परिषद के महिला व बालकल्याण विभाग के उप मुख्य कार्यकारी अधिकारी विलास मरसाले ने दी है.          

तहसील आंगनवाड़ी संख्या
अकोला 1     141
अकोला 2  167
बार्शीटाकली    183  
  अकोट    221
तेल्हारा    176
बालापुर    172
मुर्तिजापुर 190
पातुर      140
कुल संख्या       1390