Instructions to install CCTV cameras in all wards of Kovid-19 hospitals in Delhi

    • सभी हॉस्पिटलों में रोगियों के लिए बेड उपलब्ध
    • बच्चों के लिए 50 बेड का कोविड केयर सेंटर
    • डा.राजकुमार चौहान 

    अकोला. अब धीरे धीरे कोरोना संक्रमित रोगियों की संख्या घटती जा रही है. कोरोना संक्रमण से घबराए हुए लोग अब धीरे धीरे राहत की सांस लेने लगे हैं. कुछ दिनों पूर्व नियमित रूप से बड़ी संख्या में कोरोना संक्रमित रोगी पाए जा रहे थे. अब वैसी स्थिति नहीं है. कुल मिलाकर स्थिति सुधरती जा रही है. 

    सभी जगह बेड उपलब्ध 

    कुछ समय पूर्व इस तरह की परिस्थिति थी कि कोरोना के रोगी दिन प्रतिदिन बढ़ते जा रहे थे. लेकिन उन्हें अस्पतालों में बेड नहीं मिल रहा था, अब स्थिति काफी सुधर गई है. जीएमसी के साथ साथ सभी निजी अस्पतालों में भी बेड उपलब्ध हैं. इसी तरह गंभीर रोगियों के लिए आईसीयू के बेड भी सभी जगह उपलब्ध हैं. 

    कम हो रहा संक्रमण

    अब कोरोना संक्रमण धीरे धीरे कम होता जा रहा है. दूसरी लहर धीरे धीरे समाप्त होती हुई दिखाई दे रही है. हाल ही में सोमवार को कोरोना संक्रमित रोगियों की संख्या घटकर 50 के अंदर 42 पर आ गई है. प्राप्त जानकारी के अनुसार जिले में अब तक 56,704 लोगों को कोरोना का संक्रमण हुआ था जिसमें से 54 हजार के करीब रोगी पूरी तरह से ठीक हो चुके हैं.

    वर्तमान समय में 2500 से कुछ अधिक कोरोना के एक्टिव रोगी हैं. इसी तरह सर्वोपचार अस्पताल में कोरोना के रोगियों के लिए 456 बेड हैं. जिसमें से 300 बेड ऑक्सीजन के हैं. इसमें ऑक्सीजन बेड पर 206 रोगियों पर उपचार शुरू है. प्राप्त जानकारी के अनुसार अब ऑक्सीजन की मांग भी काफी घटी है. इसी तरह गंभीर रोगियों की संख्या भी अब बहुत अधिक नहीं है.

    अत्याधुनिक कोविड केयर सेंटर -डा.राजकुमार चौहान

    बातचीत करने पर सिविल सर्जन डा.राजकुमार चौहान ने बताया कि अकोला के सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल में कोरोना वायरस की संभावित तीसरी लहर को देखते हुए छोटे बच्चों के लिए 50 बेड का कोविड केयर सेंटर शुरू किया जा रहा है, जिसमें बच्चों के उपचार के लिए सभी अत्याधुनिक सुविधाएं उपलब्ध रहेंगी. इसके लिए बहुत तेज गति से काम शुरू है. इसी तरह जिले के सभी सरकारी अस्पतालों, ग्रामीण रुग्णालयों में भी बच्चों के कोविड उपचार के लिए पूरी व्यवस्था की जा रही है.

    इस बारे में जिले की सभी आशा वर्करों को आनलाइन पूरी जानकारी दी गयी है. डा.चौहान ने बताया कि शहर के साथ साथ सभी ग्रामीण क्षेत्रों में भी कोरोना की संभावित लहर को देखते हुए पुख्ता इंतजाम किए जा रहे हैं. वर्तमान परिस्थिति में भी कोरोना के रोगी काफी कम हो रहे हैं. इस तरह स्थिति पूरी तरह नियंत्रण में है. इसी तरह अकोला जिला पूरी तरह से संभावित तीसरी लहर का सामना करने के लिए सुसज्ज है.