Corona

    • अब लोगों को खुद का ध्यान रखना पड़ेगा

    अकोला. शहर तथा जिले में कोरोना वायरस के रोगियों में कोई कमी नहीं है. दिन प्रतिदिन रोगियों की संख्या बढ़ती जा रही है. सुबह 9 बजे से शाम 5 बजे तक सभी क्षेत्रों के बाजारपेठ खुले रहते हैं. शाम 5 बजे के बाद लाकडाउन रहता है. फिर भी शहर की सभी सड़कों पर शाम 5 बजे के बाद भी भीड़ में कोई कमी नहीं देखी जा रही है. 

    बढ़ते जा रहे रोगी

    प्राप्त जानकारी के अनुसार अब तक अकोला में कोरोना वायरस के 20,961 पॉजिटिव रोगी पाए गए हैं. जिसमें से 15,293 रोगी ठीक हो चुके हैं. अब तक करीब 397 लोगों की मौत हो चुकी है. और कोरोना वायरस के एक्टिव रोगी 5,271 हैं. इस तरह कोरोना वायरस से संक्रमित रोगियों की संख्या बढ़ती जा रही है. 

    लोग निश्चिंत घूम रहे

    कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिए लाकडाउन यह हल नहीं है, यह सभी का कहना है. क्योंकि लाकडाउन के कारण सभी क्षेत्रों में बेरोजगारी बढ़ी है. अभी भी शहर तथा जिले में बड़ी संख्या में लोग बेरोजगार घूम रहे हैं. इसी तरह लाकडाउन के कारण सभी व्यापारिक क्षेत्रों में भी मंदी देखी जा रही है. इतना होते हुए भी शाम 5 बजे के पहले और 5 बजे के बाद भी लोगों की भीड़ में कोई कमी नहीं है. लोग निश्चिंत होकर सड़कों पर घूमते हुए दिखाई देते हैं. 

    लोगों को खुद ध्यान रखना पड़ेगा

    अब तो ऐसा लगता है कि जैसे लोगों में जनजागृति करनी पड़ेगी. लोगों का काम है कि खुद सचेत रहें, मुंह पर मास्क लगाएं, सोशल डिस्टेन्सिंग का पालन करें तो लाकडाउन की आवश्यकता नहीं पड़ेगी. लेकिन देखा जा रहा है कि लोग कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिए जारी सरकारी सूचनाओं को ताक पर रखकर घूम रहे हैं. सरकार द्वारा जनजागृति की जा रही है. लेकिन उस ओर लोगों का ध्यान नहीं है. चाहे किराणा की दुकान हो, सब्जी की हो सभी जगह लोगों की भीड़ देखी जा सकती है.

    अब लोगों को खुद का ध्यान रखना जरूरी है. जिससे वे कोरोना वायरस से बच सकें. अब यह सभी जिम्मेदारी सरकार की नहीं है बल्कि लोगों को खुद अपनी जिम्मेदारी लेनी पड़ेगी, खुद अपना और अपने परिवार का ध्यान रखना पड़ेगा तभी कोरोना वायरस के बढ़ते हुए प्रसार को रोका जा सकेगा.