Corona wreaks havoc in Akola, state government should try seriously: Devendra

अकोला. पूर्व मुख्यमंत्री एवं विपक्ष के नेता देंवेंद्र फडणवीस ने कहा कि अकोला में कोरोना की मृत्यु दर सर्वाधिक है. राज्य सरकार ने इस मृत्यु दर को रोकने का गंभीरता से प्रयास करना चाहिए. देश भर को देखते हुए 46 प्रश मृत्यु दर महाराष्ट्र की है. विदर्भ में कोरोना से सर्वाधिक मौतें अकोला शहर में हुई हैं. 

संवाददाताओं से चर्चा करते हुए देवेंद्र ने कहा कि अकोला के डा. पीडीकेवी में स्थित क्वारंटाइन सेंटर में भेंट देकर मैने वहां का कामकाज देखा, वह समाधानकारक है. वहां भर्ती लोगों से बातचीत भी की, लोगों ने भी समाधान प्रकट किया. केंद्र सरकार द्वारा अकोला के सुपर स्पेशालिटी अस्पताल हेतु 150 करोड़ रु. देकर इसका नर्मिाण किया गया है. लेकिन कोरोना की इस भीषण स्थिति में उसका उपयोग नहीं हो पा रहा है क्योंकि राज्य सरकार द्वारा इस अस्पताल हेतु अभी तक पदों की मान्यता नहीं दी गयी है. अकोला मनपा को भी कोरोना को लेकर राज्य सरकार द्वारा कोई निधि प्रदान नहीं की है. 

कपास के लिए दी राशि
केंद्र सरकार ने 5700 करोड़ रु. कपास खरीदी के लिए दिये तथा कपास खरीदी की अवधि भी बढ़ायी है. इसके बावजूद राज्य सरकार किसानों की कपास खरीदी नहीं कर पायी है. अभी भी किसानों के पास कपास पड़ा है. बोगस बीज का विषय भी गंभीर है. जिन कंपनियों के बीज बोगस निकले हैं उन कंपनियों ने किसानों को नुकसान भरपाई देनी चाहिए. राज्य सरकार द्वारा कर्ज माफी की गयी है, लेकिन अभी भी कई किसानों को कर्जमाफी नहीं मिली है. सरकार द्वारा 100 यूनिट तक बिजली बिल माफी हेतु कहा गया था लेकिन छूट न देते हुए बिजली की दर बढ़ायी गयी है. यह उचित नहीं है. 12वीं की परीक्षा न लेते हुए विद्यार्थियों को एवरेज के अनुसार सर्टीफिकेट दिये जाएंगे, यह भी ठीक नहीं है. इन सभी मुद्दों से सरकार को अवगत कराया जाएगा. 

विदर्भ पर अन्याय
विदर्भ वैधानिक विकास मंडल तथा मराठवाड़ा वैधानिक विकास मंडलों का कार्यकाल पूरा हो गया है लेकिन अब दुबारा इन मंडलों को राज्य सरकार की अनुमति नहीं मिली है, यह एक प्रकार से विदर्भ और मराठवाड़ा पर अन्याय है. इन मंडलों का गठन होना चाहिए. इस कारण से विदर्भ का बैकलाग बढ़ता जा रहा है. पत्रपरिषद में केंद्रीय मानव संसाधन राज्यमंत्री संजय धोत्रे, विधायक गोवर्धन शर्मा, विधायक तथा जिला भाजपाध्यक्ष रणधीर सावरकर, विधायक राजेंद्र पाटणी, विधायक डा. रणजीत पाटिल, विधायक हरीश पिंपले, विधायक प्रकाश भारसाकले, शहर जिला भाजपाध्यक्ष विजय अग्रवाल, महापौर अर्चना मसने, मधुकर कांबले, जिला भाजपा प्रचार प्रमुख गिरीश जोशी, प्रा.अनूप शर्मा प्रमुखता से उपस्थित थे.