बाजारों में मौसमी फलों के साथ साथ देशी, विदेशी फलों की मांग बढ़ी

  • सर्दियों में भी तरबूज, खरबूजों की मांग अधिक

अकोला. नागपुर का संतरा, नासिक के अंगूर, हिमाचल और कश्मिरी के सेब आदि के साथ साथ कैलिफोनिया के अंगूर, न्यूजिलैंड की कीवी, सेब, अमरिकन सेब के साथ मौसमी फल अकोला के बाजारों में देखे जा रहे हैं. इसी तरह ग्रीष्म के दिनों में पाए जाने वाले तरबूज और खरबूज अब ठंड के दिनों में भी ग्राहकों उपलब्ध हो रहे हैं. इस वक्त देशी, विदेशी फलों की बाजारों में मांग बढ़ी है. 

हिमाचल प्रदेश और काश्मिर से अकोला में लाए जानेवाले सेब बाजारों में 120 से 160 रु. प्रति किलो की दर से बीक रहे हैं. इसी तरह ड्रैगन फ्रुट 120 से 160 रु. प्रति किलो, जालना की मोसंबी 100 रु., हिमाचल प्रदेश से लाया गया अमरफल बाजारों में उपलब्ध है. जो 280 से 300 रु. प्रति किलो की दर से बेचा जा रहा है. यह फल आम की तरह मिठा और मधुर है.

पुणे के तरबूज 40 रू. किलो, खरबूज 60 रू., देशी पपीता 40 रू., तायवानी पपीता 30 रू., अमरुद 30 से 40 रू., गुजराती चीकू 80 रू. नागपुर तथा अमरावती का संतरा 40 से 60 रू. प्रति किलो की दर से उपलब्ध हैं. पाइनैपल 100 से 120 रू. नग के अनुसार बिक रहा है. दक्षिण से लाए गए मलई और इलायची केला 120 से 140 रू. डजन, इसी तरह कविट, आंवले की आवट बाजारों में शुरू है. 

बाजारों में उपलब्ध हैं कई विदेशी फल

विदेशी फलों की भी बाजारों में मांग बढ़ी हैं. जिससे व्यापारियों द्वारा विदेशी फल बाजारों में उपलब्ध किए जा रहे हैं. विदेशी फलों में कैलिफोनिया के अंगूर 400 रू. प्रति किलो की दर से मिल रहे हैं. इसी तरह 100 व 120 रू. की दर से अंगूर के पैक बंद डिब्बे भी उपलब्ध हैं. न्यूजिलैंड और अमेरिकन सेब भी बाजारों में पाए गए हैं. जो 200 से 240 रू. प्रति किलो की दर से मिल रहे हैं. यह बताया गया कि विदेशी फलों के प्रति भी उत्सुक उपभोक्ताओं का रुझान है.

बारह माह उपलब्ध हैं कुछ फल

स्थानीय गौरक्षण रोड पर पुराना इनकम टैक्स चौक के समीप स्थित श्री बालाजी फ्रुट एन्ड ड्रायफ्रुट्स के संचालक अंकित गुप्ता ने बताया कि फलों के लिए कोई विशेष मौसम अभी नहीं रहा है. कई फल अब वर्ष के बारह माह में मिलते हैं. जिससे ग्राहकों को अब फलों की राह नहीं तांकनी पड़ती है. पहले तरबूज और खरबूज यह केवल गर्मी के मौसम में ही पाए जाते थे, लेकिन अब यह ठंड के मौसम में भी बाजारों में ग्राहकों के लिए उपलब्ध हो रहे हैं. ग्राहकों द्वारा इनकी मांग भी अधिक मात्रा में हो रही है.