crime

अकोला. शहर में सम्पत्ति के साथ-साथ अन्य अपराधिक कामों में लिप्त आरोपी के खिलाफ पुलिस अधीक्षक जी. श्रीधर के मार्गदर्शन में कार्रवाई की गई है. स्थानीय नया बैदपुरा निवासी अपराधी साहबखां अहमदखां (25) पर  लोगों को धमकाकर दहशत निर्माण करने की जानकारी मिलने पर आरोपी के खिलाफ सिटी कोतवाली पुलिस थाने के थानेदार उत्तमराव जाधव के नेतृत्व में एमपीडीए के अंतर्गत कार्रवाई की गई है.

आरोपी साहबखां अहमदखां को  एक वर्ष के लिए जेल भेज दिया है. 15 जून 2020 की रात 2 बजे के करीब साहबखां और उसके साथी ने मो. इजाज मो. साहीद निवासी अकोट फैल को टावर चौक में रोककर 15,000 मूल्य का मोबाइल छीना और जान से मारने की धमकी दी. फरियादी मो. इजाज की शिकायत पर पुलिस ने आरोपी के खिलाफ मामला दर्ज कर उसे गिरफ्तार कर मोबाइल जब्त किया. आरोपी साहबखां के खिलाफ सिटी कोतवाली थाने में दाखिल अपराधों की संख्या तथा बढ़ते ग्राफ को ध्यान में रखते हुए उसके खिलाफ कार्रवाई की गई है.

पुलिस अधीक्षक जी. श्रीधर के आदेश पर, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक प्रशांत वाघुंडे, उपविभागीय पुलिस अधिकारी सचिन कदम के मार्गदर्शन में पुलिस निरीक्षक उत्तमराव जाधव के नेतृत्व में अपराध खोज पथक प्रमुख हेड कांस्टेबल विजय इंगले, राम बुंदेले, पुलिस कांस्टेबल नदीम, यशोधन जंजाल, गोविंद चव्हाण, प्रशांत चवरे, चंद्रकांत चिकटे ने जांच कर आरोपी के स्थानबद्धता का प्रस्ताव तैयार किया. प्रस्ताव को पुलिस अधीक्षक ने मंजूरी दी. तद्नुसार साहबखां को गिरफ्तार किया और उसकी रवानगी एक वर्ष के लिए जेल में की गई है.

श्रीधर के आते ही शुरू हुई कार्रवाई 
अकोला में नए पुलिस अधीक्षक के रूप में जी. श्रीधर के कार्यभार संभालते ही समाजकंटकों पर सख्त कार्रवाई करने का दौर शुरू हो गया है. जिला पुलिस अधीक्षक ने सभी थानेदारों को आदेश दिए हैं कि समाजकंटकों के लिए जरा भी सहानुभूति न बरतते हुए उन पर सख्त कार्रवाई की जाए.