drone
Representative Image

    अकोला. स्वामीत्व गांवठान भूमापणन योजना के तहत जिले में सात माह पूर्व ड्रोन द्वारा गांवठान का सर्वेक्षण शुरू किया गया था. फरवरी माह के आखिर तक जिले के 751 गांवठान में से 251 गांवठान के ड्रोन द्वारा सर्वेक्षण पूरे किए गए. लेकिन उसके बाद कोरोना वायरस के संक्रमण की स्थिति में जिले के बाकी 500 गांवठान के ड्रोन द्वारा सर्वेक्षण अटका है.

    स्वामीत्व गांवठान भूमापन योजना में भूमि अभिलेख विभाग द्वारा जिले की सात तहसीलों में 751 गांवों के गांवठान की सम्पत्ति का ड्रोन द्वारा सर्वेक्षण करने का काम 3 दिसंबर से शुरू किया गया था. जिसमें जिले की मुर्तिजापुर, अकोट व तेल्हारा इन तीन तहसीलों के 251 गांवठान के सर्वेक्षण का काम पूर्ण होने के बाद कोरोना वायरस के संक्रमण से 22 फरवरी से ड्रोन द्वारा गांवठान के सर्वेक्षण करने का काम रोक दिया था.

    गत 10 अप्रैल तक जिले के 751 गांवठान के ड्रोन द्वारा सर्वेक्षण पूर्ण करने का नियोजन जिला अधीक्षक भूमि अभिलेख कार्यालय द्वारा किया गया था. लेकिन कोरोना से सर्वेक्षण के कार्य अटकने से जिले के 500 गांवठान के ड्रोन द्वारा सर्वेक्षण का काम अभी भी प्रलंबित है.

    जिले में 751 में से 251 गांवठान का सर्वेक्षण पूर्ण 

    कोरोना वायरस के संक्रमण से जिले के अकोला, बालापुर, बार्शीटाकली व पातुर इन चार तहसीलों के गांवठान के ड्रोन द्वारा सर्वेक्षण का काम अभी भी प्रलंबित है. इसके साथ ही अकोट तहसील के कुछ गांवों के गांवठान के सर्वेक्षण अटकें है.

    गांवों के गांवठान के सभी सम्पत्ति का ड्रोन द्वारा सर्वेक्षण पूर्ण होने के बाद सम्पत्ति का नक्शा तैयार कर जांच की जाएगी. उसके बाद प्रत्येक सम्पत्ति को नमूना 8 संलग्नित कर अपडेट किया जाएगा. उसके बाद सम्पत्ति धारकों को आनलाइन पध्दति से अपडेट सम्पत्ति पत्र उपलब्ध करवाकर दिया जाएगा. जिले में मुर्तिजापुर तहसील में 127 गांवठान, तेल्हारा तहसील में 80 गांवठान व अकोट तहसील में 44 गांवठान का सर्वेक्षण हो गया है.

    गांवठान का ड्रोन द्वारा सर्वेक्षण गत 10 अप्रैल तक पूर्ण करने का नियोजन किया गया था. लेकिन कोरोना संक्रमण से 22 फरवरी से सर्वेक्षण का काम रोका गया. जिले में 251 गांवठान के सम्पत्ति का सर्वेक्षण करने का काम पूर्ण हुए है. आनेवाले अक्टूबर माह से बाकी 500 गांवठान के सर्वेक्षण शुरू किया जाएगा.