अकोला-खंडवा ब्रॉडगेज के लिए उत्खनन, किसानों की खेत जमीन हुई खराब

  • जिलाधिकारी की ओर की जाएगी शिकायतें

अकोला. अकोला से खंडवा तक मीटरगेज का रुपांतर ब्रॉडगेज में किया जा रहा है. इस ब्रॉडगेज रेल मार्ग के लिए आवश्यक भरावा हेतु रेल पटरी के समीप किसानों की खेत जमीन में से बड़े प्रमाण में उत्खनन किया गया है जिससे कई किसानों की खेत जमीनें खराब हो गयी हैं. नुकसान भरपाई मिलने के लिए नुकसानग्रस्त किसान शिकायतें दर्ज करेंगे यह जानकारी सूत्रों द्वारा मिली है. खेत जमीन में उत्खनन के कारण किसानों के नुकसान का स्वरुप अलग है. इस कारण प्रत्येक किसान को स्वतंत्र शिकायत दर्ज करनी होगी. इस संदर्भ में कुछ दिनों पूर्व किसानों ने शेतकरी जागर मंच के पदाधिकारियों के साथ जिलाधिकारी जीतेंद्र पापलकर को जानकारी दी गयी थी.

वर्तमान समय में अकोला-खंडवा ब्रॉडगेज रेलवे मार्ग का कार्य अंतिम चरण में पहुंच गया है. रेल मार्ग के लिए भरती हेतु मिट्टी की आवश्यकता काफी अधिक रहती है. रेल पटरी के समीप किसानों की खेत जमीन खोदी गयी और मिट्टी निकाली गयी जिससे किसानों की खेत जमीने खराब हो गयी है. इसमें ग्राम उगवा, निंभोरा, किनखेड, करोडी, चोहोट्टा, करतखेड, कावसा, तरोला, मरोडा, दनोरी, देवली परिसर की खेत जमीनों का समावेश हैं.

उत्खनन किए जाने से नुकसानग्रस्त किसानों को मुआवजा काफी कम मिला है. कुछ किसानों को नुकसान भरपाई नहीं मिली. खुदाई कार्य करते समय भविष्य में किसानों का नुकसान नहीं होगा इस बारे में किसी भी तरह का ध्यान नहीं रखा गया है जिससे इस संदर्भ में कुछ दिनों पूर्व शेतकरी जागर मंच ने इसी रेल मार्ग पर खेती नुकसान खोज यात्रा निकाली और बादमें अब किसानों को नुकसान भरपाई दिलाने के प्रयास शुरु है. सभी नुकसानग्रस्त किसान स्वतंत्र रुप से जिलाधिकारी की ओर शिकायत दर्ज करेंगे यह जानकारी सूत्रों ने दी है.