FARMER RICE

    पातुर. किसानों ने खरीफ मौसम की योजना बनाते समय खेत खलियान में 100 मिमी बारिश के बिना अपने खेती में नहीं बुआई ना करें. यह आहवान तहसील कृषि अधिकारी धनंजय शेटे ने किया है. इस संदर्भ में कृषि विभाग ने सभी किसानों को एक पत्रक के माध्यम से अवगत कराया है. जिला कृषि अधीक्षक कृषि अधिकारी के मार्गदर्शन में अष्टसूत्र कार्यक्रम की योजना बनाई गई है. 

    आत्मा समिति के मंगेश झाबंरे ने बताया कि अष्टसूत्र कार्यक्रम के अनुसार सोयाबीन की फसल बुआई करने पर उपज में बढ़ोत्तरी होती है. तथा बुआई करने का खर्च भी कम होता है. अष्टसूत्र कार्यक्रम कैसे किया जाए, इस की विस्तृत जानकारी आत्मा समिति ने दी. जिसमें बीज प्रसंस्करण, किस्म का चयन, बीजों का परीक्षण, रासायनिक खाद की मात्रा, कीटनाशकों का उचित उपयोग आदि का समावेश  हैं.