डायबिटीज और ब्लड प्रेशर के कारण बढ़ रही किडनी की बीमारियां

  • दिन में कम से कम 4 से 5 लीटर पानी पीना जरूरी - डा.आनंद शर्मा

– अरुण कुमार वालोकार

अकोला. स्थानीय यूरोलॉजिस्ट डा.आनंद शर्मा ने कहा कि डायबिटीज और ब्लड प्रेशर के कारण भी लोगों में किडनी की बीमारियां बढ़ने लगी हैं.

पानी कम प्रमाण में पीने के कारण किडनी की बीमारी बढ़ी :

डा.आनंद शर्मा ने बताया कि दिनचर्या में परिवर्तन तथा पानी पीने का प्रमाण कम होने के कारण भी किड़नी की बीमारी काफी बढ़ी है. उन्होंने कहा कि दिन प्रतिदिन गर्मी बढ़ रही है. उस अनुसार लोग पानी नहीं पीते हैं. इसी कारण से किड़नी स्टोन भी बढ़ रहे हैं. इसे रोकने के लिए रोज कम से कम 4 से 5 लीटर पानी पीना चाहिए. कई लोग ऐसे हैं जो बहुत कम पानी पीते हैं, यह भी स्वास्थ्य के लिए बिलकुल ठीक नहीं है. यूरिनरी ट्रॅक इन्फेक्शन के कारण भी यह तकलीफ बढ़ी है.

जंक फूड का सेवन बंद करें 

किड़नी की बीमारी न हो इसके लिए लोगों ने जंक फुड का उपयोग टालना चाहिए. भोजन में पौष्टक आहार का सेवन करना चाहिए. इसी तरह प्रत्येक व्यक्ति ने करीब 4 से 5 लीटर पानी रोज पीना चाहिए. कोई भी तकलीफ होने पर तुरंत अपने डाक्टर से संपर्क कर, डाक्टर से जांच करवानी चाहिए.

नियमित रूप से करें डायबिटीज और बीपी की जांच

डायबिटीज और बीपी की जांच नियमित रूप से करवाते रहना चाहिए. किड़नी खराब होने पर किड़नी ट्रान्सप्लांट भी एक सफल क्रिया है. इसके अच्छे परिणाम अमरावती और नागपुर में सामने आए हैं. रोगी की किड़नी किस हालत में है यह देखते हुए डाक्टर द्वारा निर्णय लिया जाता है. डायलिसिस भी एक माध्यम है. उन्होंने बताया कि यूरिनरी ब्लेडर में कैन्सर के रोगी भी सामने आए हैं.

धूम्रपान और तंबाखू सेवन न करें

डा.आनंद शर्मा ने कहा कि शराब इसी तरह धूम्रपान, तंबाखू का सेवन बिलकुल नहीं करना चाहिए. 

समुचित व्यायाम जरूरी

प्रत्येक व्यक्ति ने सुबह की सैर को भी अपने जीवन का हिस्सा बनाना चाहिए. यदि लोग समुचित व्यायाम, स्वास्थ्य वर्धक भोजन के साथ साथ अपने स्वास्थ्य का पूरा ध्यान रखें तो कई बीमारियों को टाला जा सकेगा. इसलिए लोगों ने इस ओर ध्यान देना चाहिए और सभी स्वस्थ लोगों ने अधिक से अधिक पानी पीना चाहिए जिससे किडनी के साथ साथ पूरा शरीर स्वस्थ रहेगा. डा.शर्मा ने कहा कि किडनी से संबंधित रोगों का इलाज अकोला में पूरी तरह से हो रहा है.