lockdown
File Photo

    • कोरोना के रोगियों में कमी नहीं

    अकोला. शहर तथा जिले में कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने को लेकर 21 मार्च 2020 को जनता कर्फ्यू की घोषणा हुई थी जिसे शत प्रतिशत प्रतिसाद मिला था. इसके बाद 22 मार्च 2020 से लाकडाउन शुरू हुआ था जिसे आज एक वर्ष पूरा हो गया है. अभी भी स्थिति में बहुत अधिक सुधार नहीं है. वैक्सीन भी आ गयी है.

    अब तक अकोला जिले में 24,722 पॉजिटिव रोगी पाए गए हैं. 17,761 व्यक्तियों को उपचार के बाद डिस्चार्ज किया गया है. 426 लोगों की कोरोना वायरस से मौत हो चुकी है. इसी तरह 6,535 रोगियों पर उपचार शुरू है. इस तरह आए दिन कोरोना वायरस के रोगियों की संख्या कम होने की बजाए बढ़ रही है. 

    कोरोना प्रतिबंधक वैक्सीन भी आ गयी

    शहर तथा जिले में कोरोना वायरस पर प्रतिबंधक वैक्सीन भी आ गयी है. प्राप्त जानकारी के अनुसार अब तक सिर्फ 40.70 प्रतिशत स्वास्थ्य कर्मचारी तथा 37.49 फ्रन्ट लाइन वर्करों ने कोविड की वैक्सीन का दूसरा डोज लिया है. प्राप्त जानकारी के अनुसार अब तक इस अभियान में कुछ लाभार्थी दूसरा डोज लेना टाल रहे हैं. 60 वर्ष से अधिक उम्र के 25,258 लाभार्थियों ने वैक्सीन का पहला डोज लिया है. इसी तरह जटील रोग से ग्रस्त 45 वर्ष से अधिक से 5,224 लाभार्थियों ने वैक्सीन का पहला डोज लेने की जानकारी है. 

    बाजारों में अभी भी भीड़

    अभी भी कोरोना वायरस की दहशत कम नहीं हुई है. अभी अकोला शहर तथा जिले में सुबह 9 से लेकर शाम 5 बजे तक सभी बाजार खुले रहते हैं. लेकिन शाम 5 बजे तक भी और 5 बजे के बाद भी सड़कों पर भीड़ कम नहीं हो रही है. उस पर आए दिन कोरोना वायरस के रोगी बढ़ते जा रहे हैं. अनेक स्थानों पर सोशल डिस्टेन्सिंग का बिलकुल पालन नहीं किया जा रहा है. अनेक क्षेत्रों में लोगों को बिना मास्क का भी देखा जाता है. शायद यही कारण है कि कोरोना के रोगियों में कमी नहीं आ रही है. फरवरी 2021 के बाद अचानक कोरोना के रोगियों की संख्या में वृद्धि हुई है. 

    लोगों द्वारा ध्यान देना जरूरी

    कोरोना वायरस के दिन प्रतिदिन बढ़ते जा रहे प्रसार को रोकने के लिए अब सभी लोगों द्वारा खुद होकर ध्यान दिया जाना बहुत जरूरी है. लोगों का काम है कि किसी भी जगह भीड़ भरे स्थानों पर जाने से बचें, सोशल डिस्टेन्सिंग का पूरी तरह से पालन करें, इसी तरह कहीं भी जाते समय पूरी जिम्मेदारी के साथ मास्क का उपयोग करें, सैनिटाइजर का भी उपयोग करें और कोरोना वायरस के इस बढ़ते हुए प्रसार पर रोक लगाए. इसी तरह सरकार द्वारा कोरोना वायरस को लेकर जारी की गयी सभी सूचनाओं का जिम्मेदारी के साथ पालन करें.