More than 300 Coronadas cremated

  • 300 से अधिक कोरोनाग्रस्तों का किया अंतिम संस्कार
  • 'कच्छी-मेमन जमात ट्रस्ट' ने निर्मित किया आदर्श

अकोला. कोरोना से पीड़ित मृत व्यक्ति को पार्थीव शरीर को रिश्तेदार भी कब्जे में लेने हेतु आगे न आने से जनसेवा यही अल्लाह की इबादत यह ब्रीद सामने रखकर अकोला के कच्छी मेमन जमात ट्रस्ट यह मुस्लिम संगठन ने उल्लेखनीय कार्य किया है. संगठन के मुस्लिम युवकों के पथक ने पिछले 6 माह के दौरान 300 से अधिक कोरोनाग्रस्त मरीजों की लाशों का उनके धर्म व रितीरिवाज के अनुसार अंतिम संस्कार कर एक नया आदर्श निर्मित किया है. मार्च माह में कोरोना बीमारी अकोला में भी आयी. 7 अप्रैल को विश्व स्वास्थ्य दिन पर ही कोरोना ने अकोला में दस्तक दी.

उसी दिन जिले में कोरोना का पहला मरीज पाया गया. 12 अप्रैल को जिले में कोरोना से पहली मौत हुई. कोरोना का सभी ओर भय रहा. कोरोना से मृत व्यक्ति की लाश को रिश्तेदार भी कब्जे में न लेने पर जनसेवा हेतु अकोला की कच्छी मेमन जमात ट्रस्ट नामक मुस्लिम संगठन ने पहल की और मानवता की पहचान करवायी. ट्रस्ट ने कोरोना से मृत व्यक्ति का अंतिम संस्कार करने का कार्य शुरु किया जो आज तक शुरु है. जावेद जकारिया, तन्वीर खान, साबीर कुरेशी, आसिफ अहमद खान, अजीज खान, नदीम खान, शेख इरफान, बाबाभाई, जावेदखान शाबाजखान, वसीमभाई, समीरखान आदि के पथक ने पॉजिटिव और निगेटिव कोरोना मरीज का निशुल्क उपचार कार्य करने के साथ ही गरीबों को मदद की. सहायता के लिए दो एम्बुलेन्स उपलब्ध करवायी.

जिलाधिकारी जीतेंद्र पापलकर, निवासी उप जिलाधिकारी प्रा. संजय खडसे, सरकारी चिकित्सा मवि की अधिष्ठाता डा.मीनाक्षी गजभिये, जिला शल्य चिकित्सक डा.राजकुमार चव्हाण, स्थानीय अपराध शाखा के पुलिस निरीक्षक शैलेश सपकाल और मनपा के स्वच्छता अधिकारी प्रशांत राजूरकर ने भी युवकों के पथक को सहयोग पदान कर रहे हैं. मोहता मिल मोक्षधाम के अध्यक्ष श्याम राठी, दीपक शिंदे, मासूम शाह कब्रस्तान के अध्यक्ष हाजी मुदाम का भी समर्थन व सहयोग मिल रहा है. जिला प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग के लिए युवकों का यह पथक सभी समाज के युवकों के लिए आदर्श स्थापित कर रहा है. अब तक 300 से अधिक कोरोना से मृत मरीजों का उनकी समाज की रीति के अनुसार अंतिम संस्कार किया गया. इस पथक में शामिल जावेद खान ने पिता की मौत के बाद भी उस दिन बुलढाना के एक व्यक्ति की लाश एम्बुलेन्स से घर पहुंचायी. जिले में कोरोना संकट बढ़ रहा है, ऐसे समय कच्छी मेमन जमात ट्रस्ट द्वारा शुरु की गयी इस महान सेवा कार्य को इतिहास में याद रखा जाएगा तो आश्चर्य नहीं.