अकोला के 19 परीक्षा केंद्रों पर 7 हजार से अधिक विद्यार्थियों ने दी नीट की परीक्षा

  • भाजपा ने विद्यार्थियों को पहुंचाया परीक्षा केंद्रों तक 

अकोला. कोरोना संकट के चलते कक्षा 12वीं की परीक्षा सफल होने के बाद चिकित्सा व अभियांत्रिकी प्रवेश के लिए केंद्र सरकार ने जेईई और एनईईटी (नीट) परीक्षा लेने का निर्णय लिया. अकोला जिले में 22 परीक्षा केंद्रों पर विद्यार्थियों ने परीक्षा दी. जिसमें अकोला में 19 परीक्षा केंद्र हैं व तीन परीक्षा केंद्र अकोट में स्थापित किए गए. इन परीक्षा केंद्रों पर 7 हजार से अधिक विद्यार्थियों ने नीट की परीक्षा दी. शिक्षण विभाग व जिला प्रशासन द्वारा नीट परीक्षा का नियोजन किया गया है. परीक्षा केंद्र पर प्रवेश करते ही विद्यार्थियों की स्वास्थ्य जांच की गयी. सैनिटाइजर की व्यवस्था भी की गयी थी. परीक्षा केंद्र पर सोशल डिस्टेन्सिंग आदि नियमों का पालन किया गया. 

भाजपा ने विद्यार्थियों की मदद की 
केंद्रीय राज्यमंत्री संजय धोत्रे के मार्गदर्शन में अकोला के 19 परीक्षा केंद्रों पर विद्यार्थियों को पहुंचाने के लिए भाजपा व समर्थ एज्यूकेशन सोसायटी के माध्यम से मदद की गयी. दूसरे गांवों से आए कुल मिलाकर 1,432 परीक्षार्थियों को उनके परीक्षा केंद्रों पर वाहन द्वारा पहुंचाने का कार्य किया गया. भाजपा जिलाध्यक्ष, विधायक रणधीर सावरकर, भाजपा महानगर अध्यक्ष विजय अग्रवाल के नेतृत्व में विद्यार्थियों की मदद की गयी. इस उपक्रम में नागरिकों का भी प्रतिसाद मिला.

सुबह 9 से दोपहर 1 बजे तक विद्यार्थियों को परीक्षा केंद्रों तक पहुंचाने का कार्य किया गया. सर्वप्रथम विधायक गोवर्धन शर्मा, विधायक रणधीर सावरकर, विजय अग्रवाल, प्रा.नितिन बाठे ने हरी झंडी दिखाकर विद्यार्थियों की रवानगी परीक्षा केंद्रों पर की गयी. इस कार्य में पार्षद गिरीश जोशी, अश्विनी हातवलणे, अक्षय गंगाखेड़कर, डा.विनोद बोर्डे आदि सहित सभी भाजपाइयों ने योगदान दिया.