वहीं कोरोना से मरने वाले मरीज़ के शव की जांच उनके परिवार की सहमति से ही की गई थी। 

  • बड़ी संख्या में लोग नहीं कर रहे सरकारी नियमों का पालन 
  • बाजारों में भीड़ कायम 

अकोला. कोरोना वायरस की दहशत अभी भी शहर तथा जिले में लगातार बरकरार है. सर्वोपचार अस्पताल से प्राप्त जानकारी के अनुसार कोरोना वायरस से मरनेवालों की संख्या 306 पर पहुंच गयी है. और कोरोना वायरस के रोगियों की संख्या 10,079 हैं. जिसमें फिलहाल 737 एक्टिव कोरोना वायरस के रोगी उपचार करवा रहे हैं.

एक्टिव रोगियों की संख्या देखते हुए लोगों में चिंता होना स्वाभाविक है. बीच में कुछ दिनों तक ऐसा लग रहा था कि कोरोना वायरस के रोगियों की संख्या कम होती जा रही है लेकिन अब फिलहाल ऐसा लग रहा है कि संख्या में बिलकुल कमी नहीं है. आए दिन ठीक हो रहे रोगियों को कोविड सेंटरों से डिस्चार्ज भी दिया जा रहा है.

और तो और अकोला जिले में कोविड के कारण मरनेवालों की संख्या 306 पर पहुंचना भी एक चिंता का विषय है. यह बात सही है कि करीब दो माह पूर्व ऐसा लग रहा था कि कोविड पर जिले में नियंत्रण पा लिया गया है. लेकिन अब कोरोना वायरस के रोगियों की संख्या देखते हुए लोगों में चिंता व्याप्त है. 

सरकारी नियमों का पालन नहीं

सर्वाधिक आश्चर्य की बात यह है कि एक ओर कोरोना वायरस के रोगी बढ़ते जा रहे हैं. वहीं कोरोना वायरस की दहशत भी बरकरार है. लेकिन शहर तथा जिले में अनेक क्षेत्रों में कोरोना वायरस को लेकर सरकारी नियमों का और सरकारी आदेशों की पूरी तरह से लोगों द्वारा अवहेलना की जा रही है. बड़ी संख्या में लोग आपको रास्तों पर ऐसे दिखाई देंगे जो लोग मास्क का उपयोग ही नहीं करते हैं. लोग बिना मास्क लगाए खुले आम बाजारों में घूमते हुए दिखाई देंगे.

सोशल डिस्टेन्सिंग का पालन भी नहीं किया जा रहा है. कोई दूकान या कोई शोरूम ऐसा नहीं है जिसमें भीड़ न हो. कोरोना वायरस को लेकर सरकार द्वारा जो नियमावली घोषित की गयी है, उसका बिलकुल पालन होता हुआ दिखाई नहीं दे रहा है. और तो और सरकार द्वारा शुरूआत में जो सख्ती बरती जा रही थी वह सख्ती भी अब बरती नहीं जा रही है. 

बाजारों में भीड़ बढ़ गयी

शहर तथा जिले के बाजारों में भीड़ दिन प्रतिदिन बढ़ती जा रही है. लेकिन सोशल डिस्टेंसिंग का पालन और मास्क का उपयोग नहीं के समान है. महात्मा गांधी रोड, ओपन थिएटर रोड, तिलक रोड, किराना बाजार, कोठड़ी बाजार, मोहम्मद अली रोड आदि मुख्य बाजारपेठ क्षेत्रों में सड़कों पर लोगों का हुजूम दिखाई देता है. मुख्य बाजारपेठ क्षेत्रों में लोग पैदल चलते हुए विभिन्न दुकानों में, सड़कों पर लगी हुई हाथगाड़ियों में जाकर बिना मुंह पर मास्क लगाए खुले आम खरीदी कर रहे हैं.

यहां पर लोगों में कोरोना वायरस का कोई डर नहीं दिखाई दे रहा है. यही स्थिति शहर के मुख्य सब्जी बाजार जनता बाजार के साथ साथ सभी बाजारों की है. लोग दिन भर भीड़ का हिस्सा बनने के लिए तैयार रहते हैं लेकिन सरकारी सूचनाओं और सरकारी नियमों का जरा भी पालन नहीं करते हैं. कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिए इस ओर ध्यान दिया जाना बहुत जरूरी है. सरकार के संबंधित विभागों द्वारा इस भीड़ पर नियंत्रण किया जाना भी जरूरी है. 

विवाह समारोहों में भी नियमों का पालन नहीं

शहर में मुख्य रूप से विवाह समारोहों में भी कोरोना वायरस को लेकर सरकारी नियमों का पालन नहीं किया जा रहा है. विवाह समारोह में स्टेज पर फोटो सेशन शुरू रहता है. स्टेज पर कोई मास्क नहीं लगाता है. वैसे भी भोजन करते समय तो मास्क नीचे करना ही पड़ता है. लेकिन बड़ी संख्या में लोग विवाह समारोहों में मास्क का उपयोग नहीं कर रहे हैं. लोग सरकारी शर्तों के अनुसार विवाह समारोहों की अनुमति तो ले रहे हैं लेकिन अनुमति मिलने के बाद विवाह समारोहों में किसी भी नियम पर अमल नहीं कर रहे हैं.

यह एक चिंता का विषय है. सरकार द्वारा भी विवाह समारोहों में सरकारी नियमों का पालन न करनेवालों पर कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है. सरकार के संबंधित विभागों का काम है कि विविध समारोहों में सरकारी नियमों का पालन न करने वालों पर कार्रवाई होनी चाहिए जिससे कोरोना वायरस के प्रसार को रोका जा सके.