मुंबई, पुणे जाने के लिए यात्रियों को निजी बसों में लग रहा है करीब दुगुना किराया

अकोला. दीपावली त्यौहार के कारण अधिक भीड़ को देखते हुए निजी बस मालिकों की ओर से सरकार द्वारा निर्धारित किए गए प्रति किलो मीटर किराए से अधिक किराया लिया जा रहा है, जिससे निजी बस जांच मुहिम की ओर अनदेखी किए जाने का मामला उजागर हो रहा है. क्षेत्रीय परिवहन विभाग द्वारा गठित किए गए उड़न दस्तों द्वारा इस ओर अनदेखी किए जाने से पुणे और मुंबई की ओर जानेवाले यात्रियों से दुगुना, तिगुना किराया वसूले जाने की शिकायतें सामने आ रही हैं.

त्यौहारों और भीड़ भरा मौसम निजी बस मालिकों के लिए एक वरदान साबित हो रहा है. अतिरिक्त किराया लेने की संभावना को देखते हुए पिछले हफ्ते ही उप-क्षेत्रीय परिवहन विभाग ने अकोला में ऐसी निजी बसों का निरीक्षण करने के लिए एक टीम गठित की है. निजी बस मालिकों को इससे अवगत कराने के लिए जिला प्रशासन द्वारा प्रचार-प्रसार भी किया गया था.

इस तरह उन्हें यह भी चेतावनी दी गई थी कि अगर वे निर्धारित दर से अधिक शुल्क लेते हैं तो ऐसे बस मालिकों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी. इसके बावजूद यात्रियों से अधिक किराया लिए जाने का आरोप यात्रियों द्वारा किया जा रहा है. प्राप्त जानकारी के अनुसार अकोला से मुंबई तथा पुणे की ओर जाने के लिए परिवहन निगम तथा निजी बसों द्वारा बुकिंग के लिए भीड़ उमड़ रही है.

नौकरी तथा शिक्षा के लिए जिले से बड़ी संख्या में युवकों को दूसरे गांव जाना पड़ता है. पुणे तथा मुंबई में जाने के लिए बसों में भारी भीड़ उमड़ रही है, जिससे लोगों को बस की टिकट नहीं मिल पा रही है. आने वाले 15 दिनों में इसी तरह भीड़ रहने की संभावना को देखते हुए निजी बसों द्वारा अधिक किराया लिए जाने का आरोप यात्रियों द्वारा किया जा रहा है. 

अकोला से पुणे तथा नासिक की ओर राज्य परिवहन निगम की ओर से ज्यादा बसें चलाई जा रही हैं.  इसी तरह शिवशाही, हिरकणी आदि बसें भी यहां से छोड़ी जा रही हैं. इस मार्ग पर 60 से अधिक बसें शुरु की गई हैं. इसी तरह 14 से 24 नवंबर इस कालावधि के लिए 100 से अधिक बसें यात्रियों की सुविधा के लिए बढ़ाई गई हैं. निजी ट्रॅवल्स कंपनियों द्वारा चलाई जा रही बसों को भी काफी प्रतिसाद मिल रहा है. लेकिन इन बसों का बहुत अधिक किराया यात्रियों को देना पड़ रहा है.

अकोला से पुणे और मुंबई के लिए रोज करीब 40 से अधिक निजी बसों की उपलब्धता है. वैसे अकोला से पुणे के लिए प्रत्येक यात्री को 500 से 600 रू. किराया देना पड़ता है. प्राप्त जानकारी के अनुसार फिलहाल निजी बसों में यात्रियों से 1500 से 1700 रू. तक किराया लिए जाने की जानकारी है. इसी तरह मुंबई के लिए 2000 से लेकर 4000 रू. तक किराया यात्रियों से लिया जा रहा है, ऐसी जानकारी मिली है. कई यात्री ऐसे हैं जिनको पुणे या मुंबई में नौकरी के लिए जाना पड़ रहा है, वे अधिक किराया दे रहे हैं.