Electricity

    महावितरण का अजब कामकाज 

    अकोला. महावितरण द्वारा की जा रही अघोषित लोडशेडिंग से लोगों को काफी तकलीफ का सामना करना पड़ रहा है. इस अघोषित लोडशेडिंग से लोग काफी त्रस्त हो रहे हैं. कोरोना के संकट के कारण पहले ही लोग काफी परेशान हो गए हैं. उसमें और यह महावितरण की लोडशेडिंग लोगों का जीना दूभर कर रही है. शहर में किसी भी समय अघोषित लोडशेडिंग की जा रही है. इस लोडशेडिंग का खामियाजा शहर के स्लम एरिया में रहनेवाले लोगों की अधिक भुगतना पड़ रहा है.

    स्थानीय तारफैल, विजय नगर, भवानी पेठ, सिध्दार्थ नगर, देशमुख फैल, उत्तमचंद प्लॉट, नायगांव, मोहता मिल चाल, समता नगर आदि परिसर में रोजाना कभी भी दिन या रात में अघोषित लोड़शेडिंग होती है. 15 जुलाई को दोपहर 5 बजे बिजली गुल हो गई तो शाम 7 बजे बिजली आई. फिर से शाम 7:30 बजे बिजली गुल हो गई तो रात 8:30 बजे बिजली आई. इस परिसर में इस तरह की बिजली की आंखमिचौली रोजाना बार बार होती रहती है. जिससे लोग इस बत्तीगुल हो जाने की वजह से काफी त्रस्त हो गए हैं. 

    उमस कायम, मच्छरों का हमला

    शहर व जिले में अच्छी बारिश का मौसम शुरू ना होने के कारण लोगों को भीषण गर्मी का सामना करना पड़ रहा है. आज भी उमस कायम है. इस भीषण गर्मी में पंखे व कूलर भी काम नही कर रहे हैं. बिजली गुल होने के बाद मच्छरों की पैदावार व मच्छरों का हमला बढ़ने से सभी लोग व विशेष कर बच्चे काफी परेशान हो रहे हैं. उसमें महावितरण की ओर से दिन, रात देर रात कभी भी बिजली कटौती की जा रही है. शहर के स्लम एरिया के लोगों को अघोषित लोड़शेडिंग का सामना अधिक करना पड़ रहा है. 

    शिकायत की ओर अनदेखी

    जिस परिसर की बिजली सप्लाई बंद हो जाती है. आनलाइन पध्दति से शिकायत की जाती है. टोल फ्री नंबर पर शिकायत की जाती है. लेकिन बिजली बिल बकाया हुआ तो बिजली कटौती की शिकायत नहीं की जा सकती है. लेकिन बिजली गुल का खामियाजा लोगों को ही उठाना पड़ता है. इस ओर महावितरण ने ध्यान देना चाहिए. इस संदर्भ में महावितरण की ओर शिकायत करने बावजूद काफी देर तक दुरुस्त करनेवाले कर्मचारी व अधिकारी परिसर में न पहुंचने पर लोगों को अपने कामकाज छोड़कर परेशानी उठानी पड़ती है. 

    आनलाइन पढ़ाई पर असर

    इस अघोषित लोड़शेडिंग के कारण मोबाइल, लैपटाप और इंवर्टर भी चार्ज नही हो रहे है. गुरुवार के दिन शहर के अधिकतर भागों में बिजली सप्लाई बंद रही. दिन में लगभग 6 घंटे तक रुक रुक कर बिजली सप्लाई बंद होती गई. रुक रुक कर हो रही बिजली आपूर्ति से होल्टेज कम अधिक हो रहा है.

    जिससे आनलाइन पढ़ाई करनेवाले, होमवर्क करनेवाले छात्रों को इस अघोषित लोड़शेडिंग से काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है. इस अघोषित लोड़शेडिंग से निजात दिलाने की मांग लोगों में हो रही है. महावितरण इस ओर ध्यान देकर लोगों को हो रही परेशानी से राहत दिलाए.