Mumbai Rainsi: Many long distance trains canceled, local train services also affected, know full details
File

    • अकोला मनपा की लापरवाही से हुए लोगों के हाल बेहाल
    • मोर्ना नदी में आई बाढ़
    • अकोला में मनपा, जिला प्रशासन का राहत कार्य
    • खोलेश्वर, कमला नेहरु नगर, होलसेल किराणा बाजार, गंगा नगर, शिवसेना वसाहत
    • क्षेत्रों में भरा बारिश का पानी -लाखों की हानि हुई)

    अकोला. राष्ट्रीय महामार्ग क्र.6 पर स्थित होलसेल किराणा बाजार, गंगा नगर, शिवसेना वसाहत आदि क्षेत्रों में बारिश का पानी भर जाने से लाखों रूपयों की हानि हुई है. बुधवार की देर रात हुई लगातार बारिश के कारण शहर के विभिन्न क्षेत्रों में बारिश के पानी की निकासी न होने के कारण स्थिति काफी बिगड़ गई थी. इसी तरह शहर के मध्य भाग से बहनेवाली मोर्ना नदी में भी देर रात 12 बजे के बाद बाढ़ आ जाने से नदी के किनारे स्थित नीचली बस्तियों में पानी भर जाने से कई घरों की हानि हुई है.

    बुधवार रात 10 से लेकर सुबह तड़के तक लगातार बारिश शुरू होने के कारण शहर तथा जिले के कई क्षेत्रों में स्थिति खराब हो गई थी. शहर के कुछ क्षेत्रों में तो ऐसा लग रहा था जैसे बादल फटने जैसी स्थिति उत्पन्न हो गई है. इतना पानी शहर के अनेक क्षेत्रों में भर गया था. शहर के अनेक घरों के साथ साथ कमर्शियल कॉम्प्लेक्स के बेसमेंट में पानी भर जाने से बिजली के पम्प लगाकर पानी निकालना पड़ा.

    पिछले अनेक वर्षों से पहले पुराना शहर क्षेत्र में सड़कों से पानी की निकासी की व्यवस्था न होने के कारण लोगों को तकलीफ होती थी अब इसी प्रकार की स्थिति पूरे शहर की है. बारिश के पानी की निकासी की व्यवस्था न होने, मानसून पूर्व नाले नालियों की ठीक ढंग से सफाई न होने के कारण आज पूरे शहर को तकलीफ का सामना करना पड़ा है. यह सब मनपा की लापरवाही के कारण हुआ है, ऐसा लोगों का कहना है.

    होलसेल किराणा बाजार की दूकानों में घुसा पानी

    राष्ट्रीय महामार्ग क्रमांक 6 पर स्थित होलसेल किराणा मर्चंट मार्केट में आज पानी भर जाने से अनेक प्रतिष्ठानों का काफी नुकसान हुआ है. बाजार के सामने स्थित नाले में रुकावट होने के कारण नाले का पानी बाजार में घुस गया और यहां स्थित करीब 55 से 60 प्रतिष्ठानों में पानी जाने के कारण किराणा, तेल, अनाज आदि विभिन्न वस्तुओं का नुकसान हुआ है.

    यहां जिन प्रतिष्ठानों का नुकसान हुआ है उसमें हसमुखलाल दुल्लभजी, सुपर किराणा, आर.सी. ट्रेडिंग, भाटी उद्योग, प्रदीपकुमार खंडेलवाल, बासमती प्वाइंट, जी.पी. ट्रेडर्स, अंबिका ट्रेडर्स, तुलसीदास करतारमल, समाधान ट्रेडर्स, मातृभूमि ट्रेडिंग कंपनी, समीर एंटरप्राइजेस, सुभाष ट्रेडर्स, राजपाल ब्रदर्स, गिरधर ट्रेडर्स, खंडेलवाल चाय हाऊस, गौरवदीप ट्रेडिंग, श्यामलाल कन्हैयालाल, बाबूलाल प्रेमचंद, शांतिलाल कोटक, बलराम करतारमल, कुंदराय जोतूमल, कंवरराम ट्रेडर्स, मुकेश मार्केटिंग, पियूष ट्रेडिंग, कृष्णा ट्रेडर्स, मोतीभाई प्राणजीवनदास, विनीता ट्रेडर्स, शुभम कार्पोरेशन्स, श्रीकिसन गंगासहाय, साई ट्रेडर्स, अनंत जुनगडे, न्यू गौरव ट्रेडर्स, अमर सेल्स, मनीष ट्रेडर्स, धरमदास एन्ड सन्स, नायशा किराणा, योगीराज होटल, दीपेश ट्रेडिंग कंपनी आदि करीब 55 से 60 प्रतिष्ठानों का समावेश हैं. इन प्रतिष्ठानों में करीब 6 इंच तो कहीं एक फिट तक पानी भर जाने से वहां रखी वस्तुएं पानी में भीगने से लाखों की हानि हुई है. 

    नाले के पानी से हुआ किराणा बाजार का नुकसान-रमाकांत खेतान

    इस बारे में होलसेल किराणा मर्चंट एसो. के अध्यक्ष रमाकांत खेतान से बातचीत करने पर उन्होंने बताया कि बाजार के सामने से जा रहे नाले में रुकावट उत्पन्न होने के कारण उसका पानी किराणा बाजार में घुसने से अनेकों व्यापारियों का लाखों का नुकसान हुआ है. अकोला मनपा का काम है कि इस ओर गंभीरता से ध्यान दे तथा उस नाले को ठीक तरह से साफ करवाए जिससे इस तरह के नुकसान की घटना की पुनरावृत्ति न हो. इस ओर मनपा द्वारा ध्यान दिया जाना बहुत आवश्यक है. 

    सिटी कोतवाली थाने में पानी भरा

    शहर के मध्य भाग में स्थित सिटी कोतवाली थाने में भी देर रात 12 बजे के बाद करीब तीन फिट पानी भर जाने से थाने में खलबली मच गयी. इसके बाद सुबह थाने से पानी निकाला गया. सुबह यहां उपस्थित उप विभागीय पुलिस अधिकारी सचिन कदम तथा ट्राफिक पुलिस निरीक्षक गजानन शेलके से बातचीत करने पर उन्होंने बताया कि देर रात भीषण बारिश के कारण तिलक रोड का पानी थाने में घुस गया था. सड़कों से पानी की निकासी न होने के कारण यह स्थिति उत्पन्न हुई. 

    गंगा नगर, शिवसेना वसाहत में भरा पानी

    राष्ट्रीय महामार्ग क्र.6 पर स्थित गंगा नगर 2 में बारिश तथा नाले का पानी भर जाने से लोगों को काफी तकलीफ हुई. गंगा नगर में गजानन शेलके, भातुरकर, पुरवार के साथ साथ कई लोगों के घरों में काफी पानी भर जाने के कारण घरों का काफी नुकसान हुआ है. कुछ लोगों के यहां तो इतना पानी भर गया कि उन लोगों को पास ही स्थित दूसरे घरों में जाकर आसरा लेना पड़ा. इन लोगों का कहना है कि जब भी नाले में रुकावट आती है हमारी सोसायटी में पानी आ जाता है. अकोला मनपा ने इस ओर ध्यान देना चाहिए और इस समस्या से हमें राहत दिलानी चाहिए. राष्ट्रीय महामार्ग क्र.6 पर ही स्थित शिवसेना वसाहत में स्थित करीब 150 लोगों के घरों में पानी जाने से लोगों की काफी हानि हुई है और इसके अलावा भी कई घरों का नुकसान हुआ है. यहां तो इतना पानी भर गया था कि लोगों का घरों में आना जाना मुश्किल हो गया था. 

    खेतान नगर, बलोदे ले आउट में भी हुई लोगों को तकलीफ

    मोर्ना नदी के किनारे स्थित खोलेश्वर, अनिकट, भुलेश्वर, महात्मा फुले नगर में भी कई लोगों के घरों में मोर्ना नदी का पानी भर गया. जिससे काफी हानि हुई. इसी तरह खड़की, कौलखेड़, खेतान नगर, श्रद्धा नगर, बलोदे ले आउट आदि क्षेत्रों में कहीं नदी का तो कहीं नालों का पानी लोगों के घरों तक पहुंच जाने से अनेक लोगों की हानि हुई है.

    कहीं कहीं नदी का पानी लोगों के घरों तक पहुंचा है तो कहीं नालों की सफाई न होने के कारण नालों के पानी से भी कई घर प्रभावित हुए हैं. श्रद्धा नगर, खेतान नगर आदि क्षेत्रों में पूर्व राज्यमंत्री गुलाबराव गावंडे, पूर्व पार्षद पंकज गावंडे ने लोगों की काफी मदद की. पूर्व पार्षद पंकज गावंडे ने बताया कि यहां पर पानी भर जाने पर नाव लाकर कई लोगों की मदद की गयी. कुछ मवेशियों को भी पानी से निकाला.

    रमाबाई नगर, राहुल नगर अनेक क्षेत्रों में पानी भरा

    पुराना शहर में स्थित रमाबाई नगर, राहुल नगर, अन्नाभाऊ साठे नगर, मारुति नगर, गुरूदेव नगर, यशवंत नगर आदि क्षेत्रों में बारिश का पानी भर जाने से लोगों को बहुत तकलीफ हुई. इस क्षेत्र के पार्षद राजेश मिश्रा से बात करने पर उन्होंने बताया कि मनपा द्वारा इन क्षेत्रों में स्थित नालों की ठीक तरह से सफाई न किए जाने के कारण यह स्थिति उत्पन्न हुई है. इसके लिए पूरी तरह से मनपा की लापरवाही जिम्मेदार है. 

    विधायक गोवर्धन शर्मा पहुंचे मदद के लिए

    अकोला पश्चिम विधान सभा चुनाव क्षेत्र के विधायक गोवर्धन शर्मा सुबह तड़के ही लोगों की मदद के लिए पहुंच गए. उन्होंने शिवसेना वसाहत, डाबकी रोड, खोलेश्वर, किराणा बाजार, जाजू नगर के साथ साथ उन सभी क्षेत्रों का दौरा किया जहां बारिश का पानी जमा हो गया था. शिवसेना वसाहत क्षेत्र में विधायक शर्मा करीब तीन फिट पानी में उतरे और लोगों को सांत्वना दी तथा श्रीरामनवमी सेवा समिति द्वारा चाय, नाश्ता और भोजन का वितरण करवाया. विधायक शर्मा का कहना था कि अनेक स्थानों पर नालों में रुकावट के कारण अनेक बस्तियों में पानी भरने से लोगों को तकलीफ हुई है. उन्होंने तुरंत मनपा को राहत कार्य के आदेश दिए. 

    अनेक क्षेत्रों में तकलीफ

    वरिष्ठ पार्षद हरीश आलिमचंदानी ने बताया कि कमला नेहरु नगर, खोलेश्वर, भोलेश्वर आदि क्षेत्रों में पानी भर जाने से लोगों को काफी तकलीफ हुई है. उन्होंने कहा कि हर तरह से जो मदद हो पा रही है करने का प्रयास किया जा रहा है.

    मनपा प्रशासन काम कर रहा है-प्रभारी मनपा आयुक्त नीमा अरोरा

    शहर में अनेक स्थानों पर बारिश के पानी की निकासी की व्यवस्था न होने के कारण लोगों को काफी तकलीफ हो रही है. इस बारे में अकोला की जिलाधिकारी तथा प्रभारी मनपा आयुक्त नीमा अरोरा से बातचीत करने पर उन्होंने कहा कि मनपा प्रशासन अपने स्तर पर लोगों की मदद कर रहा है. जहां जहां पानी रुका है उसे निकालने का प्रयास किया जा रहा है. अमरावती विभागीय आयुक्त कार्यालय में आयोजित मीटिंग में उपस्थित रहकर जिलाधिकारी दोपहर को वापस अकोला लौट आई हैं. 

    नदी किनारे रहनेवाले सावधान रहें-संजय खड़से

    जिला प्रशासन द्वारा नदी के किनारे रहनेवालों को सावधान रहने का इशारा किया गया है. इसी तरह जानकारी दी गयी है कि दगड़पारवा प्रकल्प बाढ़ नियंत्रण कक्ष से प्राप्त जानकारी के अनुसार आज सुबह 11.30 बजे दगड़पारवा प्रकल्प का एक गेट 2.50 सेमी खोला गया है. इससे नदी के पात्र में कुल 2.05 घ.मी. पानी छोड़ा गया है. पूर्णा बैरेज 2 (नेरधामणा) बैरेज के सभी दरवाजे खोले गए हैं. बाढ़ का स्तर 243.50 मी. है. 12 गेट से पानी बह रहा है.

    छोड़ा गया पानी 4672.92 घ.मी. है. यहां भी नदी के किनारे रहनेवाले लोगों को सावधान रहने का इशारा दिया गया है. मौसम विभाग नागपुर द्वारा आज प्राप्त संदेश के अनुसार 23 जुलाई से 27 जुलाई 2021 के बीच हल्की ओर मध्यम बारिश की संभावना और बिजली कड़कने की संभावना प्रकट की गयी है. यह जानकारी निवासी उप जिलाधिकारी प्रा.संजय खड़से ने दी है.

    अकोला में मनपा, जिला प्रशासन का राहत कार्य

    खड़की, न्यू खेतान नगर आदि क्षेत्रों में बारिश का पानी बहुत अधिक बढ़ जाने के कारण यहां पर मनपा ओर जिला प्रशासन द्वारा संत गाड़गे बाबा पथक द्वारा रेस्क्यू आपरेशन किया गया. करीब 30 घरों से 120 लोगों को सुरक्षित स्थान पर पहुंचाया गया. इस अवसर पर निवासी उप जिलाधिकारी प्रा.संजय खड़से, संत गाड़गे बाबा पथक के दीपक सदाफले और आपत्ति प्रबंधन अधिकारी संदीप साबले उपस्थित थे.