Give financial assistance to pavilion businessmen, young Sene gave memorandum to CM

    अकोला. अकोला शहर शिवसेना की ओर से पेट्रोल, डीजल, गैस के बढ़ते दामों को लेकर केंद्र सरकार के निषेधार्थ घंटा नाद आंदोलन जयहिंद चौक पर किया गया. इस अवसर पर केंद्र सरकार के विरोध में शिवसैनिकों ने जमकर नारेबाजी की. प्रधानमंत्री के खिलाफ भी नारेबाजी की गयी. आंदोलन का नेतृत्व शिवसेना के महानगर प्रमुख, पार्षद राजेश मिश्रा ने किया. 

    आंदोलन जारी रहेगा-राजेश मिश्रा

    इस अवसर पर शिवसेना महानगर प्रमुख तथा पार्षद राजेश मिश्रा ने कहा कि पेट्रोल, डीजल और गैस की कीमतें धीरे धीरे आम आदमी की पहुंच से दूर होती जा रही हैं. इसी मुद्दे को लेकर अब शिवसेना द्वारा साप्ताहिक आंदोलन शुरू किया गया है. यह आंदोलन सप्ताह भर तक नियमित रूप से शहर के विभिन्न क्षेत्रों में किया जाएगा. पेट्रोल, डीजल और गैस के बढ़ते दामों के कारण आम लोगों को कितनी तकलीफ हो रही है, हम इस ओर केंद्र सरकार का ध्यान आकर्षित करना चाहते हैं.

    उन्होंने कहा कि पेट्रोल तथा डीजल के दाम बढ़ने के कारण ट्रान्सपोर्ट के रेट बढ़ रहे हैं. इसी कारण सभी वस्तुओं की महंगाई बढ़ती जा रही है. जिसके कारण आम आदमी का जिना दूभर हो गया है. केंद्र सरकार का काम है कि वह तुरंत पेट्रोल, डीजल, गैस की दिन प्रतिदिन हो रही दाम वृद्धि पर रोक लगाएं. उन्होंने कहा कि शिवसेना द्वारा शीघ्र ही आंदोलन और तीव्र किया जाएगा. 

    शिवसैनिकों की उपस्थिति

    इस अवसर पर बड़ी संख्या में शिवसैनिक उपस्थित रहे. आंदोलन कार्यक्रम में मंजुषा शेलके, अनिल परचुरे, अश्विन नवले, बबलू उके, योगेश गीते, अतुल पवनीकर, तरूण बगेरे, संतोष अनासाने, पार्षद गजानन चव्हाण, शशिकांत चोपड़े, किरण येवलणकर, सुनील दुर्गिया, रवि सातपुते, विक्की ठाकुर, प्रमोद वानखड़े, कृष्णा बगेरे, शकील फुलारी, गणेश बुंदेले, दशरथ मिश्रा, गोपाल लव्हाले के साथ साथ बड़ी संख्या में शिवसैनिक उपस्थित रहे. यहां उपस्थित शिवसैनिकों ने जोरदार नारेबाजी करते हुए चौराहे पर केंद्र सरकार के खिलाफ काफी समय तक निदर्शन किया. वहां उपस्थित लोगों ने भी इस आंदोलन को अपना समर्थन देते हुए अपनी उपस्थिति दर्ज कराई.