Seeds, wardha

    अकोला. वर्तमान में किसान बीज और खाद की खरीदी में लगे हुए हैं. इस अवसर का लाभ उठाकर कुछ कृषि केंद्र के संचालक किसानों की लूट कर रहे हैं. इसकी जानकारी कृषि विभाग को मिलने पर कृषि विभाग के अधिकारी ने ग्राहक के रूप में किसान के साथ जाकर संबंधित कृषि सेवा केंद्र के संचालक से महाबीज के सोयाबीन बीजों की मांग की. तब कृषि सेवा केंद्र के एक कर्मचारी ने कहा कि वह किसान को महाबीज के सोयाबीन के बीज तभी देगा जब वह अन्य बीज खरीदेंगे.

    यह सुनने के बाद कृषि विभाग के अधिकारी ने उक्त तेल्हारा के दधीमधी कृषि सेवा केंद्र पर छापामार कार्रवाई कर पंचनामा किया और आगे की कार्रवाई के लिए प्रस्ताव लाइसेन्स अधिकारी की ओर भेज दिया. यह कार्रवाई तहसील कृषि अधिकारी मिलिंद वानखड़े, कृषि अधिकारी नरेंद्र राठोड़, मंडल कृषि अधिकारी उमेश कदम, कृषि सहायक अविनाश मराठे, वरिष्ठ लिपिक विठ्ठल बिहाडे ने की है. 

    किसानों की शिकायत के बाद दधीमधी कृषि सेवा केंद्र के खिलाफ कार्रवाई की गयी है. तेल्हारा तहसील के अन्य सभी कृषि सेवा केंद्र संचालकों ने किसान को जो चाहिए वह बीज सरकारी दर पर उपलब्ध करें. लिंकिंग कर बीज व खाद की बिक्री न करें. इसी तरह फर्जी बीजों की बिक्री न करें अन्यथा कृषि सेवा केंद्र का लाइसेन्स रद्द किया जा सकता है.-मिलिंद वानखडे 

    तहसील कृषि अधिकारी तेल्हारा

    मेरे ऊपर लीक करने का आरोप झूठा है. मेरे खिलाफ तहसील कृषि विभाग द्वारा की गई कार्रवाई अन्यायपूर्ण है. इसके लिए मैं कृषि विभाग के वरिष्ठों की ओर न्याय की मांग करूंगा.-सुरेश दायमा, संचालक,