शिव भोजन थाली योजना, जरूरतमंदों के लिए बन गई फायदेमंद

  • जिले में 8.22 लाख लाभार्थियों में थाली का वितरण

अकोला. राज्य सरकार की महत्वाकांक्षी शिव भोजन थली योजना यह जिले के जरूरतमंदों के लिए फायदेमंद बन गई है. अब तक इस योजना से लगभग 8 लाख से अधिक जरूरतमंदों ने लाभ लिया है, यह जानकारी जिला आपूर्ति अधिकारी बी.यू. काले ने दी है. शिव भोजन थाली यह योजना पहले प्रायोगिक रूप में 26 जनवरी 2020 से शुरु की गयी. इस योजना के तहत गरीब और जरूरतमंद लोगों को नियमित रूप से शिव भोजन थाली का लाभ दिया जा रहा है. अब तक जिले के 13 केंद्रों से लगभग 8 लाख 22 हजार लाभार्थियों को थाली का लाभ मिला है.

शहर क्षेत्र में अपने विविध कार्यों के लिए ग्रामीण अंचलों से आनेवाले गरीबों के लिए किफायती दर से स्वच्छ, पोषक और ताजा भोजन देने की यह योजना है. जिसका लाभ मुख्य रूप से गरीब और जरूरत मंद लोग, विशेष रूप से ग्रामीण क्षेत्रों से शहर में काम के लिए आनेवाले या औषधोपचार के लिए शहर में आनेवाले मरीज तथा उनके साथ रहनेवाले लोगों को हो रहा है. सरकार की ओर से उन्हें केवल पांच रूपये में भरपेट थाली उपलब्ध की जा रही है. 

शिव भोजन थाली

इस शिव भोजन थाली में 30 ग्राम की दो रोटी, 100 ग्राम सब्जी, 150 ग्राम चावल और 100 ग्राम दाल आदि शामिल हैं. योजना की प्रारंभिक अवधि के दौरान, गरीबों और जरूरतमंदों को केवल 10 रु. की दर से भोजन उपलब्ध कराया गया. अब, कोविड संक्रमण को देखते हुए सरकार ने इस थाली की कीमत को घटा कर 5 रू. कर दिया है.

जिले में स्थापित शिव भोजन केंद्र

जिला आपूर्ति अधिकारी बी.यू. काले ने बताया कि, इस थाली का तालाबंदी के दौरान गरीब और जरूरतमंद लोगों को बहुत फायदा हुआ है. 1 अप्रैल 2020 से, अकोला जिले के सभी तहसील मुख्यालय में शिवभोजन केंद्र शुरू किया गया है. जिसमें अकोला शहर व बार्शीटाकली में प्रत्येक 3 स्थानों पर, मुर्तिजापुर व तेल्हारा में प्रत्येक 2 स्थाथों पर तथा अकोट, बालापुर और पातुर में प्रत्येक 1 स्थान पर इस तरह जिले में कुल 13 स्थानों पर शिव भोजन केंद्र शुरू है.