सरकार पर दबाव बनाए बिना मराठा समाज के आरक्षण की समस्या हल नहीं होगी: नरेंद्र पाटिल

    अकोला. महाराष्ट्र की महाविकास आघाड़ी सरकार की इच्छा शक्ति के अभाव में मराठा समाज का आरक्षण सुप्रिम कोर्ट ने रद्द कर दिया है. पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस, भाजपा के प्रदेशाध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल के नेतृत्व में राज्य भर में सभाओं के आयोजन, मराठा क्रांति मोर्चा के पदाधिकारियों से चर्चा कर के मूक मोर्चे निकाल कर राज्य की महाविकास आघाड़ी सरकार पर दबाव बनाए बिना यह विषय, यह आरक्षण की समस्या हल नहीं होगी, यह विचार आज यहां आयोजित पत्रकार परिषद में भाजपा नेता नरेंद्र पाटिल ने प्रकट की. उन्होंने कहा कि महाविकास आघाड़ी के सत्ता में आने के बाद मराठा आरक्षण का विषय ठीक तरह से उठाया नहीं गया.

    इस बारे में राज्य सरकार ने पूर्व मुख्यमंत्री अशोक चव्हाण पर जिम्मेदारी डाली थी. लेकिन वह यह विषय नहीं समझ सके. यह जिम्मेदारी यदि एकनाथ शिंदे पर डाली गयी होती तो समस्या हल हो सकती थी. सुप्रिम कोर्ट द्वारा 5 मई को यह आरक्षण रद्द कर दिया गया. लेकिन आरक्षण रद्द होने के बाद भाजपा नेता देवेंद्र फडणवीस और चंद्रकांत पाटिल पर टीका की जाने लगी. इसीलिए लोगों के सामने सही स्थिति आए इसके लिए भाजपा द्वारा एक समिति स्थापित की गयी है उसके माध्यम से हम लोग जनजागरण करेंगे. 

    मराठा समाज को आर्थिक निकष पर आरक्षण मिले

    नरेंद्र पाटिल ने कहा कि मराठा समाज को आर्थिक निकष पर आरक्षण मिले इसके लिए स्व.अन्नासाहब पाटिल के नेतृत्व में सन 1980 में मांग की गयी थी. 22 मार्च 1982 को मुंबई में मोर्चा निकाला गया था और 23 मार्च 1982 को अन्नासाहब नहीं रहे. सन 2014 में मराठा समाज आक्रमक हुआ तब नारायण राणे समिति स्थापित की गयी. इसके बाद भी कुछ नहीं हो सका. कोपर्डी की घटना के बाद यह विषय उग्र हो गया. इसके बाद 42 समाज बंधुओं ने बलिदान दिया.

    सन 2016 में फडणवीस सरकार ने यह विषय हाथ में लिया और मराठा समाज को 16 प्रश आरक्षण घोषित किया. इसी तरह अन्नासाहब पाटिल आर्थिक विकास मंडल स्थापित किया गया और 25 हजार मराठों को 2 हजार करोड़ का कर्ज वितरित किया लेकिन महाविकास आघाड़ी सरकार ने दो वर्षों से महामंडल को निधि ही नहीं दी. यह आरोप भी नरेंद्र पाटिल ने लगाया.

    मराठा समाज को आरक्षण मिले इसके लिए भाजपा पूरा साथ दे रही है, यह भी उन्होंने बताया. इस अवसर पर विधायक गोवर्धन शर्मा, भाजपा के जिलाध्यक्ष, विधायक रणधीर सावरकर, विधायक प्रकाश भारसाकले, विधायक हरीश पिंपले, भाजपा महानगराध्यक्ष विजय अग्रवाल, तेजराव थोरात, डा.शंकरराव वाकोड़े, पार्षद गिरीश जोशी प्रमुखता से उपस्थित थे.