Coronavirus
File Photo : PTI

    • डरें नहीं, सचेत रहें, नियमों का पालन करें
    • अकोला के विशेषज्ञ डाक्टरों के विचार

    अकोला. कोरोना वायरस की संभावित तीसरी लहर को लेकर आम लोगों में आए दिन चर्चाएं होती रहती हैं. कुछ लोग तो उस संभावित लहर को लेकर काफी आंतकित भी देखे जा रहे हैं, कुछ लोगों का कहना है कि संभावित तीसरी लहर यदि आएगी तो कब तक आएगी, इस बारे में अकोला के कुछ विशेषज्ञ डाक्टरों से बातचीत करने पर उन्होंने स्पष्ट किया है कि तीसरी लहर के सामने इसलिए संभावित लगाया जा रहा है क्योंकि लहर आएगी ही ऐसा जरूरी नहीं है. इसलिए सचेत रहें, सावधान रहें. प्रस्तुत है विशेषज्ञ डाक्टरों के विचार.

    देश भर में 45 करोड़ एंटीबॉडीज तैयार- डा. अनिरुध्द घासकड़बी

    इस बारे में स्थानीय वरिष्ठ चर्मरोग विशेषज्ञ डा. अनिरुध्द घासकड़बी से बातचीत करने पर उन्होंने कहा कि कोरोना की पहली और दूसरी लहर के बाद अब देश भर में करीब 45 करोड़ एंटीबॉडीज तैयार हो गई हैं. ऐसा मुझे लगता है. उनका कहना है कि कई लोगों का वैक्सीनेशन हो चुका है, कई लोग कोरोना का इलाज करवा चुके हैं, कई लोगों के परिवार के कुछ सदस्यों ने कोरोना का सामना किया है. उन्होंने बताया कि वे इस बारे में हमेशा जानकारी प्राप्त करते रहते हैं.

    इसी तरह करीब 50 प्रतिशत बच्चों में भी एंटीबॉडीज तैयार हो गई हैं. यूरोप के बाद अभी लंदन में तीसरी लहर शुरू है. अपने देश में आनेवाले अगस्त माह तक बड़ी संख्या में लोगों का वैक्सीनेशन पूरा हो जाएगा. इसलिए तीसरी लहर से डरने की बजाए, बहुत घबराने की बजाए सावधान रहें क्योंकि देश भर में 15 प्रश ऐसे लोग हैं जो किसी भी नियम का पालन नहीं करते हैं. इन लोगों ने भी नियमों का पालन करना चाहिए. तभी हम तीसरी लहर का सामना करने के लिए पूरी तरह से तैयार रहेंगे.

    हो सकता है तीसरी संभावित लहर आए ही नहीं- डा. दीपक लोटे

    वरिष्ठ शुगर तथा हार्ट स्पेशलिस्ट डा. दीपक लोटे का कहना है कि हो सकता है तीसरी संभावित लहर आए ही नहीं. लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि हम सावधानी ना बरतें. इसलिए सजगता बहुत जरूरी है. डा. लोटे ने कहा कि अब धीरे धीरे दूसरी लहर समाप्ति की ओर है, लोगों की इम्यूनिटी भी बढ़ती जा रही है. और काफी लोगों का वैक्सीनेशन भी हो गया है.

    जिन लोगों ने वैक्सीन नहीं ली है. वे तुरंत इसके लिए अपना नंबर लगाएं. उन्होंने कहा कि संभावित तीसरी लहर से बिल्कुल घबराएं नहीं. पूरी तरह से नियमों का पालन करें. जिन लोगों ने वैक्सीन ली है. यदि कोरोना वायरस रुप बदलकर दूसरे वेरिएंट के रुप में भी आया तो घबराने की जरूरत नहीं, सावधान रहें. 

    घबराएं नहीं सचेत रहें- डा. नरेंद्र राठी

    वरिष्ठ बालरोग विशेषज्ञ डा. नरेंद्र राठी का कहना है कि कोरोना की संभावित तीसरी लहर आएगी ही यह जरूरी नहीं है. यह अंदाज है, इसलिए अपनी सुरक्षा के लिए सचेत रहें, नियमों का पालन करने में कोई कमी ना रखें. बच्चों का विशेष ध्यान रखें, जहां तक हो सकें बच्चों को किसी भी भीड़ भरे समारोहों से दूर रखें. अभी तक बच्चों के लिए वैक्सीन नहीं आई है. 2 वर्ष से अधिक उम्र के बच्चों को भी मास्क लगाएं. तीसरी संभावित लहर की चिंता ना करें बल्कि चिंतन करें और डरने और घबराने की बजाए सभी नियमों का पूरी तरह पालन करें. 

    संभावित लहर का सामना करने हेतु सजग रहें- डा. अभय पाटिल

    इस बारे में वरिष्ठ ऑर्थोपैडिक सर्जन डा. अभय पाटिल का कहना है कि यूरोपियन देशों में तीसरी लहर देखी जा रही है. इसलिए इस कोरोना की संभावित तीसरी लहर का सामना करने हेतु सजग रहें. क्योंकि दूसरी लहर में हमने देश के कई नौजवान खोये हैं. जहां तक हो सके चाहे शादी, ब्याह हो या अन्य कोई कार्यक्रम प्रशासन की सूचना नुसार बहुत ही बहुत छोटे पैमाने पर ही रखें. सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें. नियमित रुप से मास्क लगाएं और हाथ धोते रहें तथा यदि वैक्सीन नहीं ली हो तो तुरंत ले लें. 

    स्वास्थ्य विभाग की सूचनाओं का पालन करें- डा. आनंद शर्मा 

    स्थानीय यूरोलॉजिस्ट डा. आनंद शर्मा का कहना है कि संभावित तीसरी लहर आए या नहीं आए लेकिन हमें सावधान रहना बहुत जरूरी है. इसलिए बिना घबराए उसका सामना करने के लिए तैयार रहें. सभी लोग वैक्सीनेशन पूरा करें, बिना डरे, बिना घबराए, मास्क लगाएं कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिए स्वास्थ्य विभाग की सूचनाओं का पालन करें. और पूरी तरह से सचेत रहें.