lockdown

    • सड़कें सुनसान पड़ी थी

    अकोला. जिला प्रशासन द्वारा कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिए घोषित किया गया लाकडाउन आज पूरी तरह से सफल रहा. मेडिकल की दुकानें तथा सभी अस्पताल छोड़कर सभी प्रकार के प्रतिष्ठान पूरी तरह बंद रहे. सिर्फ सुबह के समय दूध की बिक्री रही. कुल मिलाकर सभी बाजारपेठ पूरी तरह से बंद थे. जिसके कारण सड़कों पर लोग दिखाई नहीं दिए. आज अकोला शहर के मुख्य बाजारपेठ के साथ साथ शहर के सभी मुहल्लों, सभी बस्तियों में सड़कें पूरी तरह खाली पड़ी रहीं.

    आने जाने के लिए इक्का दुक्का आटो रिक्शे तथा अन्य चौपहिया वाहन सड़कों पर दिखाई दिए. रेलवे और एसटी बस से अपने घरों तक आने जाने के लिए आटो रिक्शे शुरू रहे. इसी तरह सभी प्रतिष्ठानों के साथ साथ शहरी क्षेत्रों में पेट्रोल पम्प भी पूरी तरह बंद रहे. सब्जी की दुकानें भी बंद देखी गयी. जिसके कारण लोगों को असुविधा हुई. किराणा की दुकानें भी पूरी तरह बंद रहीं. इस तरह आज का लाकडाउन पूरी तरह से सफल रहा. 

    शहर में तगड़ा पुलिस बंदोबस्त रहा

    आज जिला पुलिस अधीक्षक जी.श्रीधर के मार्गदर्शन में तगड़ा पुलिस बंदोबस्त रहा. अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक मोनीका राऊत, एसडीपीओ सचिन कदम, सिटी कोतवाली के थानेदार उत्तमराव जाधव, खदान के थानेदार डी.सी. खंडेराव, सिविल लाईन के बी.के. मड़ावी, रामदासपेठ के गजानन गुल्हाने, एमआईडीसी के थानेदार किशोर वानखड़े, एलसीबी के शैलेश सपकाल, अकोट फैल के महेंद्र कदम, पुराना शहर के महेंद्र देशमुख, डाबकी रोड के थानेदार विजय नाफड़े ने तगड़ा पुलिस बंदोबस्त बनाए रखा. अनेक स्थानों पर, चौराहों पर पुलिस द्वारा नाकाबंदी की गयी थी.